करें ये अचूक उपाय, इसे शीघ्र ही आप बंध सकते है विवाह के पवित्र बंधन में

Taking the Saat Phere

विवाह एक ऐसा पवित्र बंधन जिसमे एक लड़का और लड़की ‘स्थाई संबंध’ का  निर्माण करते है| हिन्दू धर्म के अनुसार विवाह अनेक विधियों के साथ सपन्न किया जाता है और इसे धार्मिक बंधन एवं कर्त्वय समझा जाता है| हर पुरुष और स्त्री का सपना होता है की उन्हें  बेहतर जीवनसाथी समय से मिले|

परन्तु जन्मकुंडली में कुछ ऐसे योग होते है जो विवाह में रूकावट डालते है| विवाह में बाधा आने के कारण उनके माता पिता एवं उन्हें खुद को चिंता रहती है और उम्र बढ़ती जाती है लेकिन विवाह योग्य उनकी पसंद का जीवनसाथी नहीं मिलता| विवाह कब होना है इस संबंध में कोई स्पष्ट तिथि नहीं बता सकता| किन्तु ज्योतिष शास्त्र के अनुसार किसी ग्रह बाधा की वजह से विवाह में विलंब हो रहा हो तो निम्न उपाय करने से शीघ्र ही विवाह के मार्ग बनते है, इन उपायों को अगर कोई व्यक्ति सच्चे मन से करेगा तो उसे मनवांछित फल की प्राप्ति होगी|

आइए जानते है अचूक उपाय जो विवाह में आने वाली समस्याओं को दूर करेंगे:

  • अगर किसी लड़की की शादी में विलम्ब हो रहा हो तो उस कन्या को भगवान शिव की प्रतिमा के आगे 5 नारियल रखकर “ऊं श्रीं वर प्रदाय श्री नामः” मंत्र का पांच बार उच्चारण करना चाहिए, ऐसा करने से विवाह से सम्बंदित परेशानियां दूर होंगी|
  • यदि किसी की कुंडली में सूर्य की दशा के कारण विवाह में देरी हो रही हो  तो उस व्यक्ति को प्रतिदिन ब्रह्ममुहूर्त में सूर्य को जल चढ़ाना चाहिए और इस मंत्र का जाप करना चाहिए|                                                                               मंत्र है: ऊँ सूर्याय: नम:| 
  • जिन लड़कों के प्रेम विवाह में दिक्क्त आ रही हो या उन्हें मनचाही कन्या न मिल रही हो तो वे श्री कृष्ण के इस मंत्र का 108 बार जाप करें तो उनकी मनोकामनाएं पूर्ण होंगी|                                                                                    मंत्र है: “क्लीं कृष्णाय गोविंदाय गोपीजनवल्लभाय स्वाहा।” 
  • विवाह में देरी होने का कारण कुंडली में मंगल की वजह से हो तो हमेशा अपने पास चांदी का चौकोर टुकड़ा रखें, विवहा जल्द होगा|
  • जब कन्या जिसका विवाह न हो रहा हो किसी दूसरी कन्या के विवाह में जाए और यदि वहाँ पर दुल्हन को मेहँदी लग रही हो तो अविवाहित कन्या कुछ मेहँदी उस दुल्हन के हाथ से लगवा ले इससे विवाह का मार्ग शीघ्र बनता है| 
  • वीरवार को वट वृक्ष, पीपल, केले के वृक्ष पर जल अर्पण करने से विवाह में आ रही बाधा दूर होती है|
  • कन्या प्रत्येक सोमवार को सुबह नहा-धोकर शिवलिंग पर “ऊं सोमेश्वराय नमः” का जाप करते हुए जल में दूध मिलाकर चढाये और रूद्राक्ष की माला से इसी मंत्र का एक माला जाप करे| विवाह की सम्भावना शीघ्र बनती नज़र आएगी|
  • जिनकी विवाह की आयु हो चुकी हो लेकिन विवाह होने में बाधा आ रही हो उन व्यक्तियों को शुक्रवार की रात में आठ छुआरे पानी में उबाल कर पानी के  साथ ही अपने सोने वाले स्थान पर सिरहाने रख कर सोएं  तथा शनिवार को प्रात: स्नान करने के बाद किसी भी बहते जल में इन्हें प्रवाहित कर दें|
  • अगर प्रेम विवाह में समस्या उत्तपन्न हो रही हो तो शुक्ल पक्ष के वीरवार से विष्णु और लक्ष्मी मां की प्रतिमा के आगे “ऊं लक्ष्मी नारायणाय नमः” मंत्र का रोज़ तीन बार माला जाप करें| तीन महीने तक हर वीरवार को मंदिर में प्रसाद  चढांए और विवाह की सफलता के लिए प्रार्थना करें|

ऊपर दिए गए उपायों को जो सच्चे मन से और श्रद्धा से करेगा उसकी विवाह की मनोकामनाएं अवश्य ही पूर्ण होंगी|

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here