shri krishna arjun mahabharat

भगवद गीता (ज्ञानकर्मसंन्यासयोग – चौथा अध्याय : 1 – 42)

अथ चतुर्थोऽध्यायः- ज्ञानकर्मसंन्यासयोग ( सगुण भगवान का प्रभाव और कर्मयोग का विषय ) श्री भगवानुवाच इमं विवस्वते योगं प्रोक्तवानहमव्ययम्‌ । विवस्वान्मनवे प्राह मनुरिक्ष्वाकवेऽब्रवीत्‌ ॥ भावार्थ : श्री भगवान बोले- मैंने इस अविनाशी योग को सूर्य से कहा था, सूर्य ने अपने पुत्र वैवस्वत मनु से कहा और मनु ने अपने पुत्र राजा इक्ष्वाकु से...
Krishna Arjun Samvad

भगवद गीता (ज्ञानविज्ञानयोग- सातवाँ अध्याय : श्लोक 1 – 30)

अथ सप्तमोऽध्यायः- ज्ञानविज्ञानयोग ( विज्ञान सहित ज्ञान का विषय ) श्रीभगवानुवाच मय्यासक्तमनाः पार्थ योगं युञ्जन्मदाश्रयः । असंशयं समग्रं मां यथा ज्ञास्यसि तच्छृणु ॥ भावार्थ : श्री भगवान बोले- हे पार्थ! अनन्य प्रेम से मुझमें आसक्त चित तथा अनन्य भाव से मेरे परायण होकर योग में लगा हुआ तू जिस प्रकार से सम्पूर्ण विभूति, बल,...
food ground

भूमि पर बैठकर भोजन करने के फायदे

कहा जाता है कि भोजन को जिस भावना के साथ ग्रहण किया जाए, यह वैसा ही फल देता है प्राचीन काल में ऋषि धरती पर आसन बिछाकर उस पर पालथी मारकर बैठते थे और फिर भोजन ग्रहण करते थे। उस समय नीचे बैठकर बोजन करने को बहुत श्रेष्ठ माना...
woman 3435842 1280

गैस की समस्या से छुटकारा पाने के लिए अपनाये ये घरेलू नुस्खे

आज के समय में पेट में गैस की समस्या बहुत आम हो गयी है। पेट में गैस की समस्या के कारण हमें हर समय भारीपन महसूस होता है तथा मन में बेचैनी भी रहती है। अगर पेट में गैस हो तो वह सिर दर्द तथा चक्कर आने का कारण...
RNJ 7773 Royal Enfield 1

क्या है मोटर साईकिल नंबर RNJ 7773 के पीछे का रहस्य? RNJ 7773 Royal...

हमारे देश हिन्दुस्तान की बात ही निराली है| यहाँ के रीती रिवाज और घटनाएं बड़ी ही रोचक तो हैं ही साथ ही कई ऐसे भी राज़ हैं जिनपर विश्वास नहीं हो पाता है| ऐसी ही एक अनसुलझी गुत्थी है राजस्थान के पाली शहर के नजदीक स्थित चोटिल गाँव के...
yamraj

क्या आप जानते हैं की यमराज को पूरे एक महीने कमंडल में बंद रहना...

बहुत समय पहले की बात है एक बड़ा ही सज्जन ब्राह्मण हुआ करता था वो अपनी पत्नी के साथ ख़ुशी ख़ुशी जीवन व्यतीत कर रहा था| भगवान् का दिया सब कुछ था उनके पास बस एक ही चीज़ की कमी थी की उनके कोई पुत्र नहीं था| ब्राह्मणी बड़ी...
lord ram worshipping shiv ji

जय शिव ओंकारा – शिव जी की आरती

जय शिव ओंकारा हर ॐ शिव ओंकारा | ब्रम्हा विष्णु सदाशिव अद्धांगी धारा ॥ ॐ जय शिव ओंकारा...... एकानन चतुरानन पंचांनन राजे | हंसासंन ,गरुड़ासन ,वृषवाहन साजे॥ ॐ जय शिव ओंकारा...... दो भुज चारु चतुर्भज दस भुज अति सोहें | तीनों रुप निरखता त्रिभुवन जन मोहें॥ ॐ जय शिव ओंकारा...... अक्षमाला ,बनमाला ,रुण्ड़मालाधारी | चंदन , मृदमग सोहें, भाले...
0521 vishnu laxmi

कैसे देवताओं की एक गलती से भगवान् विष्णु का सर कट कर धड से...

बहुत समय पहले की बात है एक दिन भगवान् विष्णु बैकुंठ लोक में शेष शैया पर आराम कर रहे थे और देवी लक्ष्मी उनके पैर दबा रही थी| कुछ देर बाद जब भगवान् विष्णु ने आँखें खोली तो सामने बैठी देवी लक्ष्मी को देख कर हंसने लगे उनकी इस...
nageshwar jyotirlinga

नागेश्वर ज्योतिर्लिंग की उत्पत्ति की कथा

भगवान् शिव के 12 ज्योतिर्लिंगों में सोमनाथ ज्योतिर्लिंग के बाद नाम आता है नागेश्वर या फिर जागेश्वर ज्योतिर्लिंग का नागेश्वर ज्योतिर्लिंग गुजरात के द्वारकापुरी से लगभग 25 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। माना जाता है की सोमनाथ ज्योतिर्लिंग के बाद इस नागेश्वर ज्योतिर्लिंग की स्थापना हुई थी यहाँ...
maxresdefault

संकटों से मुक्ति पानी हो तो पालें घर में कुत्ता और करें उसकी सेवा

कुत्ता मनुष्य के पालतू पशुओं में से एक महत्त्वपूर्ण जानवर है| हिन्दू धर्म के पुराणों में कुत्ते को यम का दूत कहा गया है| पालतू जानवर सबसे अच्छे साथी होते हैं, कुत्ता बड़ा ही संवेदनशील और होशियार जानवर माना जाता है क्योंकि कुत्ते वफादार होते हैं और घरों की रखवाली के...