D या द अक्षर से शुरू होने वाले नाम वाले कैसे होते हैं

नाम के अक्षर का आपके व्यक्तित्व पर कैसा प्रभाव पड़ता है, इस विषय में जानना बहुत दिल्चस्प हो सकता है। क्योंकि बहुत ही कम लोग इस बात से अवगत होंगे कि जिस अक्षर से आपका नाम प्रारंभ होता है, वह अक्षर आपके लिए बहुत खास होता है। तो आज हम जानते हैं “डी” या “द” से जिन लोगों का नाम शुरू होता है उनका स्वभाव और व्यक्तित्व कैसा होता है। हम आपको उनके बारे में कुछ ऐसी बातें बताएंगे जिनके बारे में जानना आपको भी हैरान कर देगा। जिन लोगों का नाम “डी” या “द” से शुरू होता है वो बहुत मेहनती होते हैं और हर कीमत पर अपने उद्देश्य को प्राप्त कर ही लेते हैं। ये लोग अपने काम को लेकर पूरी तरह समर्पित होते हैं और किसी भी तरह का समझौता नहीं करते।

ये लोग अपनी मंजिल को हर हाल में पा लेते हैं, जब तक इनका कार्य पूर्ण नहीं हो जाता तब तक ये चैन से नहीं बैठते हैं। ये लोग बहुत जिद्दी किस्म के होते हैं। जिद्द में आकर ये बहुत मेहनत करते हैं और फिर इसी के बल पर अपनी मंजिल को पा ही लेते हैं। इन्हें अगर सेल्फ मेड मैन कहा जाए तो बिल्कुल गलत नहीं होगा और यकीन मानिए इनके ऊपर ना सिर्फ देवी सरस्वती और देवी लक्ष्मी, दोनों की ही कृपा होती है। कहने का आशय है कि ये लोग बुद्धिमान और धनवान दोनों ही होते हैं, लेकिन अन्य लोगों को उनकी इस खासियत का पता इतनी आसानी से नहीं लगता।

ये लोग हर चीज अपनी तरह से करना चाहते हैं और अपने काम में किसी की भी दखलंदाजी बर्दाश्त नहीं कर पाते। ये अपनी कामयाबी का श्रेय किसी को नहीं देना चाहते इसी वजह से ये बिना किसी की सहायता के ही काम करना पसंद करते हैं। इनके जीवन में प्रेम और पारिवारिक रिश्तों का महत्व बहुत ज्यादा है। यही वजह है कि इनके भीतर प्रेम के साथ-साथ ईर्ष्या और जलन की भावना भी बहुत ज्यादा होती हैं। इन्हें कई बार सनकी समझ लिया जाता है। ये अपनी सेक्स लाइफ को लेकर बहुत गंभीर होते हैं और प्रेम संबंधों में ये बात उनके लिए बहुत जरूरी भी होती है। शारीरिक संबंधों के मामले में ये बहुत ही बिंदास किस्म के होते हैं।

इन्हें गंभीर प्रवृत्ति का माना जाता है, लेकिन इसके साथ-साथ ये लोग काफी बुद्धिमान भी कहे जा सकते हैं। इनके पास ज्ञान का भंडार होता है, आप इनसे कुछ देर बात करने पर ही समझ जाएंगे कि आप अपने समय का सही प्रयोग कर रहे हैं। इन लोगों में सबसे बड़ी कमी है उनका घमंडी और जिद्दी स्वभाव। अपने घमंड के चलते कई बार इन्हें असफलता का सामना करना पड़ता है परन्तु जिद्दी स्वभाव का होने के कारण यह कभी भी हार नहीं मानते और अपनी सोच को सर्वोपरि मानते है भले ही इन्हें कितना भी नुक्सान क्यों न उठाना पड़े।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here