कहानियाँ

युधिष्ठिर के यज्ञ से श्रेष्ठ था ब्राह्मण का यज्ञ

एक बार महाराज युधिष्ठिर ने एक यज्ञ करवाया। यज्ञ पूर्ण होने के बाद ऋषियों की सभा एकत्रित हुई। सभा में सभी यज्ञ की चर्चा करने लगे। सभी इस यज्ञ की तारीफों के पुल बाँध रहे थे। एक ऋषि ने कहा कि यह यज्ञ सबसे श्रेष्ठ था। क्योंकि इसमें नर-नारायण अर्जुन और श्री...

कौन जाएगा स्वर्ग और कौन नर्क

एक समय कि बात है एक गाँव में एक ब्राह्मण और वैश्या एक दूसरे के पड़ोस में रहते थे। ब्राह्मण पूरा दिन भगवान कि पूजा पाठ में लगा रहता था। वह सारा दिन अनंत कर्मकांड करने के लिए प्रसिद्ध था। परन्तु उसके मन में स्वयं को महान संत समझने का घमंड...

निरंतर प्रयास ही सफलता की कुंजी है

एक गांव में एक पुजारी रहते थे। वह हमेशा धर्म कर्म के कामों में लगे रहते थे। एक दिन वह जंगल के रास्ते से साथ वाले गाँव में जा रहे थे। जंगल में उनकी नजर एक विशाल पत्थर पर पड़ी उस पत्थर को देखकर उसके मन में विचार आया कि...

ईश्वर की मर्जी में रहें खुश

हमें जीवन में जो भी मिलता है। हम उसमें कभी खुश नही होते। हमें भगवान का दिया हुआ सब कम लगता है। हम सोचते हैं कि हम भगवान से जो मांगते हैं। वह हमारे लिए सही है। परन्तु हम यह भूल जाते हैं कि भगवान हमारे लिए हमसे भी अच्छा सोचता...

क्यों हनुमान जी ने अपने पुत्र मकरध्वज को पूंछ से बांधकर श्री राम के...

हनुमान जी के पुत्र मकरध्वज के जन्म की कथा के बारे में हम आपको पहले बता चुके हैं। परन्तु क्या आप इस प्रसंग के बारे में जानते हैं जब हनुमान जी ने अपने बेटे को पूंछ से बांध कर श्री राम के सामने प्रस्तुत किया? मकरध्वज को अहिरावण द्वारा पाताल पुरी का...

जीवन की हर समस्या में हमें धैर्य और विवेक से काम लेना चाहिए

कई बार हमारे जीवन में ऐसा समय आता है कि हमें किसी बड़ी समस्या का सामना करना पड़ता है। अक्सर ऐसे समय में हम अपना धैर्य खो देते हैं। परन्तु हमें चाहिए कि हम धैर्य और विवेक से काम लें। चाणक्य ने भी यह बात कही है कि इंसान...

जीवन में किया गया कोई भी बदलाव छोटा या बड़ा नही होता

जीवन में किया गया कोई भी बदलाव छोटा या बड़ा नही होता। अपनी क्षमताओं पर भरोसा रख कर किया जाने वाला कोई भी बदलाव छोटा नहीं होता और वो हमारी जिन्दगी में एक नीव का पत्थर भी साबित हो सकता है। आईये जानते हैं कि जीवन में किस प्रकार...

होनी को कोई नहीं टाल सकता: जो होना है वो हो कर ही रहेगा

एक दिन भगवान विष्णु के वाहन गरुड़ देव के मन में विचार आया की क्यों ना एक बार पृथ्वी लोक का भ्रमण किया जाए| अपने भ्रमण के दौरान जब गरुड़ देव भगवान विष्णु के पाटिल पुत्र मंदिर पहुंचे तो उनकी नज़र वहां के चबूतरे पर बैठे थर थर कांपते...

दीन दुखियों की सेवा ही असली सेवा है

एक समय की बात है एक रियासत में एक राजमाता रहती थी। वह बहुत धार्मिक विचारों की स्त्री थी। एक दिन राजमाता ने सोचा कि क्यों न सोने का तुला दान कर के मंदिर में चढ़ाया जाए। राजमाता ने अपने मन में आये विचार को अंजाम तो दिया। परन्तु ऐसा...

माता पिता निस्वार्थ प्रेम और त्याग के बदले सिर्फ प्रेम की अपेक्षा रखते हैं

एक बच्चे को आम का पेड़ बहुत पसंद था। जब भी फुर्सत मिलती वो आम के पेड के पास पहुच जाता। पेड के उपर चढ़ता,आम खाता,खेलता और थक जाने पर उसी की छाया मे सो जाता। उस बच्चे और आम के पेड के बीच एक अनोखा रिश्ता बन गया।...

तुलसी मंत्र

हिन्दू धर्म में तुलसी को बहुत पवित्र माना जाता है। माना जाता है कि घर में तुलसी का होना बहुत शुभ होता है। तुलसी के प्रतिदिन...

कैसे शुरू हुई शनि देव पर तेल चढ़ाने की परम्परा

शनि देव की कृपा तथा कहर से कोई अनजान नहीं है। उन्हें न्याय का देवता कहा जाता है। अगर शनि देव हमसे प्रसन्न हैं तो...

नारद मुनि के मनुष्य रूप में धरती पर जन्म का रहस्य

नारद मुनि ब्रह्मा जी के 7 मानस पुत्रों में से एक हैं। वे भगवान विष्णु जी के भक्त थे। नारद जी ने कठिन तपस्या से...

किन देवी देवताओं पर चढ़ाई जाती हैं शराब आखिर क्या है...

हिंदू धर्म में कई ऐसे देवी देवता हैं, जिनपर शराब का चढ़ावा चढ़ाया जाता है। यह एक बहुत ही अद्भुत और आश्चर्यजनक बात है।...

वसंत पंचमी के पीछे की कथा

सभी ऋतुओं को देखा जाए तो वसंत को ऋतुओं का राजा कहा जाता है| यह साल का वह वक़्त है जब प्रकृति की सुंदरता का कोई जवाब...

माँ दुर्गा ने सिर्फ एक तिनके के सहारे तोड़ा था समस्त...

एक समय की बात है देवतायों तथा दैत्यों में बहुत भयंकर युद्ध छिड़ गया। इस युद्ध में देवता दैत्यों पर भारी पड़ गए। देवता...

शिवरात्री की शुरुआत और उसके फल के बारे में जाने

स्कन्दपुराण में वर्णित कथा के अनुसार बहुत समय पहले चण्ड नाम का एक दुष्ट किरात था। वह मछलियों को जाल लगा कर पकड़ता था...