चालीसा

श्री कृष्णा चालीसा

श्री कृष्ण को कौन नहीं जानता। कृष्ण जी को भगवान विष्णु का अवतार भी कहा जाता है। ॥दोहा॥ बंशी शोभित कर मधुर, नील जलद तन श्याम। अरुण अधर जनु बिम्बफल, नयन कमल अभिराम॥ पूर्ण इन्द्र, अरविन्द मुख, पीताम्बर...

श्री विष्णु चालीसा

विष्णु भगवान को हिन्दू धर्म में त्रिदेवों में से एक बताया गया, ब्रम्हा - विष्णु - महेश। ।।दोहा।। विष्णु सुनिए विनय सेवक की चितलाय । कीरत कुछ वर्णन करूं दीजै ज्ञान बताय ॥ ।।चौपाई।। नमो विष्णु भगवान खरारी,कष्ट नशावन...

सूर्य देव चालीसा

सूर्य देव का हिन्दू धर्म में बहुत अधिक महत्व है। कहा जाता है की पुत्र प्राप्ति के लिए सूर्य देव की आराधना करनी चाहिए। सूर्य देव से ही धरती पर जीवन हैं। ॥दोहा॥ कनक बदन कुण्डल...

देवी सरस्वती चालीसा

हिन्दू धर्म में सरस्वती देवी को विद्या की देवी भी कहा जाता है। श्री कृष्ण ने भी सबसे पहले माँ सरस्वती की पूजा की थी। सरस्वती देवी को सफ़ेद रंग सबसे अधिक प्रिय है,...