बुढ़ापे में भी रखना चाहते हैं मजबूत याददश्त तो इन बातों पर अवश्य गौर कीजिये

बुढ़ापे में अक्सर लोगों की याददश्त कमजोर हो जाती है। बुढ़ापे में याददश्त कमजोर होने का मुख्य कारण अल्जाइमर है। इस बीमारी के कारण वे खुद तो परेशान होते ही हैं और साथ में उनके परिवार वालो को भी बहुत परेशानी का सामना करना पड़ता है। अगर आप भविष्य में इस बीमारी से बचना चाहते हैं तो इन बातों पर अवश्य ध्यान दीजिये।

बुढ़ापे में भी अगर आप अपनी याददश्त को मजबूत बनाये रखना चाहते हैं, तो पूरी नींद लें अगर आप पर्याप्त नींद नही लेते हैं, तो आगे चलकर यह आपके लिए परेशानी का कारण बन सकती है। अच्छी नींद लेने से थकान दूर होती है और दिमाग को भी आराम मिलता है। अच्छी नींद दिमाग से नकारात्मक चीजें दूर करने में भी सहायक है।

बुढ़ापे में होने वाली बिमारी अल्जाइमर का मुख्य कारण है तनाव। इसलिए कोशिश करें कि आप तनाव मुक्त रहें। नकारात्मक चीजों और लोगों से दूरी बनाएं रखें। वह कार्य करें जिन कार्यों में आपकी रूचि है।

यदि आप बुढ़ापे में अपने दिमाग को तरो-ताजा बनाए रखना चाहते हैं, तो अभी से जरूरी एक्सरसाइज करना शुरू कर दें। इसके लिए दिमागी खेल खेलें और नई-नई चीजें सीखते रहें।

बाहर का खाना न खाएं और अपना आहार ठीक करें। अपने आहार में फल सब्जियों के अलावा कुछ जरूरी ड्राई-फ्रूट्स शामिल करें।

बुढ़ापे में खुद को स्वस्थ बनाए रखने के लिए बच्चों के साथ खेल-कूद करें। आप अपने दोस्तों के साथ क्रिकेट या फुटबॉल भी खेल सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...