एक गौ की निस्वार्थ ममता ने दिया नया जीवन

एक दिन मंगलवार की सुबह वॉक करके रोड़ पर बैठा हुआ था,हल्की हवा और सुबह का सुहाना मौसम बहुत ही अच्छा लग रहा था,तभी वहाँ एक बड़ी गाडी आकर रूकी,…

एक दोहे ने बदल डाला कईयों का भविष्य!

एक राजा को राज भोगते हुए काफी समय हो गया था बाल भी सफ़ेद होने लगे थे। एक दिन उसने अपने दरबार में एक उत्सव रखा और अपने गुरुदेव एवं…

प्रभु के घर में देर है अंधेर नहीं

एक अमीर ईन्सान था उसने समुद्र मे अकेले घूमने के लिए एक नाव बनवाई। छुट्टी के दिन वह नाव लेकर समुद्र की सैर करने निकला। अभी वह आधे समुद्र तक…

जानिए कलंकित चतुर्थी के बारे में

भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि को एक तरफ गणेश जी का जन्मदिन बड़ी धूम-धाम से मनाया जाता है तो दूसरी तरफ इसे कलंकित चतुर्थी भी कहा जाता…

जो होता है अच्छे के लिए ही होता है

एक अमीर ईन्सान था उसने समुद्र मे अकेले घूमने के लिए एक नाव बनवाई। छुट्टी के दिन वह नाव लेकर समुद्र की सैर करने निकला। अभी वह आधे समुद्र तक…

अगर आप भी अपने पिता से प्यार करते हैं तो अवश्य पढ़ें

पापा पापा मुझे चोट लग गई खून आ रहा है 5 साल के बच्चे के मुँह से सुनना था कि पापा सब कुछ छोड़ छाड़ कर गोदी में उठाकर एक…

भगवान में आस्था रखें तो भवसागर भी आपका रास्ता नहीं रोक पायेगा

वृंदावन की एक गोपी रोज दूध दही बेचने मथुरा जाती थी, एक दिन व्रज में एक संत आये, गोपी भी कथा सुनने गई, संत कथा में कह रहे थे, भगवान…

वृन्दावन का मशहूर पागल बाबा का मंदिर

मथुरा से वृन्दावन के रस्ते में दस मंजिला संगमरमर का मंदिर आता है, जिसकी सुंदरता मन को मोह लेती है| इस मंदिर को पागल बाबा का मंदिर कहा जाता है| आइए…

कहीं आप भी तो नहीं करते गीता पाठ के समय ये गलतियां

श्री चैतन्य महाप्रभु दक्षिणी भारत की यात्रा कर रहे थे ! एक दिन वे श्री रंगनाथ मंदिर पहुँच गए! उन्होंने वहां पर देखा की एक साधारण सा ब्राम्हण श्रीमद्भागवद्गीता पढने…

जब एक मासूम बच्ची ने ख़रीदा 21 रूपए 50 पैसे में चमत्कार

छोटी लड़की ने गुल्लक से सब सिक्के निकाले और उनको बटोर कर जेब में रख लिया, निकल पड़ी घर से – पास ही केमिस्ट की दुकान थी उसके जीने धीरे…

मनुष्य के जीवन का मूल्य क्या है

एक आदमी ने एक संत से पुछा : जीवन का मूल्य क्या है? संत मुस्कुराए और उन्होंने उसे एक पत्थर देकर कहा जा और इस पत्थर का मूल्य पता करके…

परम आनंद की प्राप्ति के लिए मनुष्य कहाँ कहाँ नहीं भटकता

एक जादूगर जो मृत्यु के करीब था, मृत्यु से पहले अपने बेटे को चाँदी के सिक्कों से भरा थैला देता है और बताता है की “जब भी इस थैले से…