अफगानिस्तान में पाकिस्तानियों की एंट्री बंद – नहीं जा पाएंगे वहां यह सब किये बिना

पाकिस्तान के नागरिकों के लिये बुरी खबर है, अब वो बिना पासपोर्ट के अपने पड़ोसी देश अफगानिस्तान नहीं जा सकेंगे, अफगान प्राधिकरण ने पाकिस्तानी नागरिकों के लिये बिना डॉक्यूमेंट्स देश में घुसने पर रोक लगा दी है। ये नियम एक जनवरी से लागू भी हो गया है। करीब सात महीने पहले इस्लामाबाद ने भी सख्त बॉर्डर कंट्रोल कदम उठाये थे, ताकि पाकिस्तान में आतंकी गतिविधियों पर लगाम लगाया जा सकें। एक्सपर्ट्स के अनुसार अफगानिस्तान के इस फैसले के बाद कई आदिवासियों को परेशानी होगी, क्योंकि बहुत ऐसे लोग है जिनका परिवार दोनों ओर रहता है।

अफगानिस्तान अथॉरिटीज ने सीमा से सटे कई जगहों पर बैनर लगा दिये हैं, ताकि पाकिस्तानियों को याद दिलाया जा सकेै, की उन्हें अब बिना परमिशन सीमा पार नहीं करने दिया जाएगा। पाकिस्तान-अफगान सीमा पर सिक्योरिटी भी बढ़ा दी गई है, कई पाइंट्स पर सेना की अतिरिक्ट टुकड़ियां तैनात कर दी गई है।

अफगानिस्तान के अधिकारियों के अनुसार इस नियम से उन आदिवासियों को छूट दे दी गई है, जो दुरंद लाइन के दोनों तरफ रहते हैं, इन आदिवासियों के पास राहदारी कार्ड है, जो खैबर एजेंसी पॉलीटिकल ऐडमिनिस्ट्रेशन की ओर से जारी किये हैं। लेकिन एक्सपर्ट्स का कहना है कि फिर भी आदिवासियों को परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।

हालांकि इनके अलावा अगर कोई शख्स बिना परमिशन, बिना पासपोर्ट अफगानिस्तान गया, तो उसे तालिबान का करीबी समझ कर पूछताछ की जाएगी, अफगानिस्तान लंबे समय से देश में तालिबानी हिंसा के लिये पाकिस्तान पर आरोप लगाता रहा है, जबकि पाकिस्तान इस आरोप को खारिज करता रहा है। सूत्रों का अनुसार करीब 93 हजार पाकिस्तानी परिवार अफगानिस्तान में रजिस्टर्ड हैं।

क्या आपने पढ़ा?

जानिए नारद जी ने कैसे की थी श्री गणेश की मदद... भगवान शिव और पार्वती के पहले पुत्र गणेश को विघ्नहर्ता और विनायक कहा गया है|अतः गणेश जी हर दुविधा से निकालने वाले हैं| तो फिर ...
कौन था वो राजपूत योधा जिसने अकबर को भी आगरा से लाह... भारत में एक से बढ़ कर एक वीर पैदा हुए और कई ऐसे वीर भी थे जिनकी वजह से उनके वंसज आज भी गौरव का अनुभव करते हैं| आज हम बताने जा ...
अगर आपकी कुंडली में भी है पितृदोष तो करें ये उपाय ... यदि परिवार में किसी सदस्य की मृत्यु हुई हो और उस व्यक्ति की कोई आखरी इच्छा जो अधूरी रह गई हो और कोई बचा हुआ काम उसके परिवारजन...
हफ्ते के इन दिनों में गलती से भी ना काटें अपने नाख़... हमने अक्सर यह सुना है कि हमें मंगलवार, गुरुवार तथा शनिवार को नाख़ून और बाल नही कटवाने चाहिए। परन्तु हमने कभी यह जानने की कोशिश...
देवी दुर्गा के नौवें रूप देवी सिद्धिदात्री की कथा... नवरात्रि का नौवां और आखिरी दिन देवी दुर्गा के सिद्धिदात्री रूप को समर्पित है जैसा की नाम से ही पता चलता है देवी का नौवां रूप ...
loading...

Leave a Reply

avatar
500
  Subscribe  
Notify of