खबरदार! इन वस्तुयों का दान करने से हो सकता है नुकसान

दान करना बहुत अच्छी बात है। हमारे संस्कारों के अनुसार हमें अगर कोई जरूरतमंद दिखे तो हमें उसकी सहायता अवश्य करनी चाहिए। दान करने से न ही केवल हमारे मन को शांति मिलती है बल्कि हमारे कई दोष भी कट जाते हैं। परन्तु कई बार हम ऐसी वस्तुयों का दान कर देते हैं जिनसे हम पुण्य कमाने की जगह पाप कमा लेते हैं। आइए जानते हैं कि हमें किन वस्तुयों का दान नही करना चाहिए।

प्लास्टिक की वस्तुएं 

प्लास्टिक की वस्तुयों का दान करना अच्छा नही माना जाता। प्लास्टिक की वस्तुयों का दान करने को घर की तरक्की और बिज़नेस के लिए अशुभ माना जाता है।

झाड़ू

झाड़ू दान में देना बहुत अशुभ माना जाता है। माना जाता है कि झाडू दान में देने से लक्ष्मी जी रूठ जाती हैं। बिज़नेस में नुकसान होता है और बचत कम होने लगती है।

स्टील के बर्तन

स्टील के बर्तन दान करने से बचना चाहिए। अगर कोई व्यक्ति स्टील के बर्तन दान में देता है तो उसके घर में सुख शांति कम होने लगती है।

खराब तेल 

तेल दान करना शुभ माना जाता है। परन्तु खराब या उपयोग किया गया तेल दान करना अशुभ फलों का कारण बनता है। शनि की शांति के लिए हम तेल दान करते हैं। परन्तु अगर हम उपयोग किया हुआ तेल या खराब तेल दान में दें तो शनिदेव प्रसन्न होने के बजाय नाराज होते हैं। घर में क्लेश बढ़ता है और कोई विपत्ति आती है।

पहने हुए कपड़े

किसी पंडित को पुराने कपड़े दान में देना अशुभ माना जाता है। ऐसा करने से लक्ष्मी जी आपसे रूठ सकती है और आपको पैसों की परेशानी झेलनी पड़ सकती है। लेकिन किसी जरूरतमंद को हम अपने पहने हुए कपड़े दे सकते हैं, परन्तु दान के रूप में नही।

नुकीली वस्तुएं 

चाकू, कैंची तथा तलवार आदि जैसी नुकीली वस्तुएं कभी दान में न दें। क्योंकि ऐसा करने से परिवार की सुख-शांति भंग होती है। घर के लोगों के बीच तनाव बढ़ता है और संबंधों में दरार आती है।

बासी खाना

माना जाता है कि खाना दान करने से पुण्य मिलता है। परन्तु ध्यान रहे कभी बासी खाना दान में ना दें। ऐसा करने से आप के घर के सदस्य बीमार रहने लगेंगे। विवाद और कोर्ट-कचहरी में पैसा खर्च होने लगेगा।

फटे हुए ग्रन्थ या किताब

ग्रन्थों तथा किताबों को दान में देना शुभ होता है। परन्तु ध्यान रहे कि वे फटे हुए न हों। ऐसा करने से कामों में रुकावट आती हैं। दान देने वाला गलत फैसले लेता है।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here