क्या आप जानते हैं की हम भारतीय अपने राष्ट्रीय ध्वज का अपमान करने वाले से सारा सामान खरीद रहे हैं

क्या कोई भी ऑनलाइन पोर्टल इतना गैरजिम्मेदार हो सकता है की बिना जांचे परखे किसी को भी कोई चीज़ अपनी वेबसाइट पर बेचने की अनुमति दे दे| हाल के दिनों में ही सुषमा स्वराज के दवाब बनाने पर  ऐमजॉन ने अपनी वेबसाइट पर तिरंगे वाला डोरमैट हटा लिया था| ये पहली घटना नहीं है जब ऐमजॉन की वेबसाइट पर ऐसी चीज़ें बिक रही थी इससे पहले भी भारतीयों की भावनाओं को आहात करने वाले सामान बिकते रहते हैं| जिस तिरंगे को हम भारतीय अपनी सर आँखों पर रखते हैं उसी तिरंगे के पैर पोंछने के लिए इस्तेमाल किये जाने वाले डोरमैट के ऊपर छाप कर बेचा जा रहा था|

ऐमजॉन पर दबाव बनाने के लिए भारत ने वॉशिंगटन में अपने ऐंबैसडर को कहा है कि वह कंपनी को अपने वेंडर्स को समान बेचने की अनुमति देने के साथ ही भारतीयों की संवेदनाओं और भावनाओं का सम्मान करने का संदेश दें। विदेश मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने कहा कि हाल में आए मामलों को देखते हुए हमने वॉशिंगटन में अपने ऐंबैसडर के माध्यम से ऐमजॉन को चेतावनी दी है।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने शनिवार को कहा, ‘तिरंगे झंडे वाली डोरमैट की बिक्री वाले मामले को देखते हुए वॉशिंगटन में भारत के ऐंबैसडर को कहा गया है कि वह ऐमजॉन को भारतीयों का सम्मान करने व भावनाओं का ख्याल रखने की सख्त हिदायत दे।’ हाल ही में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से कनाडा में ऐमजॉन की वेबसाइट पर भारतीय झंडे वाली डोरमैट की बिक्री की शिकायत की गई थी, जिसपर संज्ञान लेते हुए सुषमा स्वराज ने ऐमजॉन को कड़ी चेतावनी दी थी।

ऐमजॉन ने भी माफी मांगने के लिए खेद प्रकट करते हुए एक पत्र लिखकर बताया था कि आगे से वह इस बात का ध्यान रखेंगे। सुषमा स्वराज ने ऐमजॉन को बिना किसी शर्त के माफी मांगने को कहा था। ऐमजॉन ने उस प्रॉडक्ट को वेबसाइट से हटाते हुए माफी मांग ली थी और कहा था कि ऐमजॉन का उद्देश्य किसी भी भारतीय की भावनाओं को ठेस पहुंचाना नहीं था और अगर किसी भारतीय की भावनाओं की ठेस पंहुची हो तो उसके लिए हम माफ़ी मांगते हैं। डोरमैट के बाद ऐमजॉन की वेबसाइट पर एक बार फिर से भारतीय प्रतीकों को गलत तरीके से दिखाया गया।


इस बार महात्मा गांधी की तस्वीर वाली स्लीपर्स साइट पर दिखीं, जिसे बाद में हालांकि हटा लिया गया। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के पास इससे जुड़ी ढेरों शिकायतें पहुंची, जिसके बाद ऐमजॉन को चेतावनी दी गई। सुषमा ने ट्वीट किया कि अमेरिकी ई-कॉमर्स कंपनी ऐमजॉन अगर अपनी साइट्स पर भारतीय तिरंगे वाले डोरमैट की बिक्री बंद नहीं करती और माफी नहीं मांगती है तो उसके अधिकारियों को भारत का वीजा नहीं दिया जाएगा|

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here