मोटापा कम करने के घरेलू उपाय

आज के समय में अधिक वजन की समस्या से हर कोई परेशान है। आज की युवा पीढ़ी के लिए सुंदर दिखना बेहद आवश्यक हो गया है। परन्तु अगर हमारा वजन अधिक है तो वह हमें सुंदर नही दिखने देता और हम सब के बीच आत्मविश्वास खोने लगते हैं। मोटापा केवल हमें सुन्दर दिखने से नही रोकता बल्कि हमारे स्वास्थ्य को भी हानि पहुंचाता है। कई बार ह्रदय तथा उच्च रक्तचाप जैसी बीमारियों का कारण मोटापा ही होता है। इसलिए हमें मोटापे को लेकर लापरवाही नही करनी चाहिए। हमें इसे कम करने की कोशिश अवश्य करनी चाहिये। आइए जानते हैं कुछ ऐसे घरेलू नुस्खे जिनकी सहायता से आप जल्दी ही मोटापे की परेशानी से आजाद हो सकते हैं।

निम्बू पानी 

एक गिलास पानी में तीन चम्मच निम्बू का रस, एक चम्मच शहद और आधा चम्मच पिसी हुई काली मिर्च मिला लें और रोज सुबह खाली पेट लें। निम्बू से हमारा पाचन ठीक होता है तथा निम्बू शरीर को चर्बी जलाने के लिए जरूरी पोषक तत्व प्रदान करता है।

ग्रीन टी 

दूध वाली चाय को छोड़कर ग्रीन टी पीना शुरू करें। ग्रीन टी पीने से पेट की चर्बी कम करने में सहायता मिलती है। रात को सोने से पहले ग्रीन टी जरूर पीयें।

एलोवेरा 

एलोवेरा की पत्तियों में से गूदा निकल लें और एक गिलास पानी में डालकर मिलाएं। 3 मिनट तक इसे अच्छे से घोलें और फिर पी लें। यह प्रक्रिया रोजाना अपनाने से आपको फर्क दिखने लगेगा। एलोवेरा शरीर से अतिरिक्त वसा जलाने में मदद करता है तथा साथ ही यह पाचन तंत्र और पेट में से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकलने में मदद करता है।

सेब का सिरका 

कच्चा और बिना छना हुआ सेब का सिरका शरीर में चर्बी बढ़ने से रोकता है। यह वसा को तोड़ने में काफी सहायता करता है। एक चम्मच कच्चा और बिना छना हुआ सिरका लें और एक गिलास पानी में मिलाएं। रोज सुबह खाली पेट इसका सेवन करें। आप एक गिलास पानी में एक चम्मच सिरका तथा एक चम्मच निम्बू का रस मिला कर भी ले सकते हैं। परन्तु ध्यान रहे कि दिन में दो चम्मच से ज्यादा सेब का सिरका न लें। क्योंकि दो चम्मच से ज्यादा सिरका लेना हमारी सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है और हड्डियों में खनिज पदार्थों के घनत्व को कम कर सकता है।

लाल मिर्च 

एक गिलास पानी में एक-दहाई चम्मच लाल मिर्च को डालकर चाय बनाये और धीरे धीरे मिर्च की मात्रा को एक चम्मच तक ले आएं। अगर आप चाहें तो इसमें आधा निम्बू निचोड़कर भी डाल सकते हैं। लाल मिर्च चर्बी जलाने में सहायता करती है और साथ ही पाचन को भी ठीक करती है। यह शरीर में पोषक तत्वों के कम अवशोषण के कारण पैदा हुई भूख को भी रोकती है।

करी पत्ते 

रोज सुबह 10 ताजा करी पत्तों का सेवन करें। इससे मोटापा कम होता है और साथ ही यह मधुमेह का कारगर आयुर्वेदिक उपचार है।

शहद और दालचीनी 

एक कप पानी में डेढ़ चम्मच दालचीनी तथा एक चम्मच शहद मिलाएं। इसकी आधी मात्रा का सेवन सुबह के समय करें और आधी मात्रा का सेवन रात में करें। यह शरीर में से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालता है। यह भूख कम करने में भी सहायक है।

सौंफ 

सौंफ के बीजों को सुखाकर भून लें और फिर पीस लें। इस पाउडर को दिन में दो बार गरम पानी के साथ डेढ़ डेढ़ चम्मच लें। मोटापा कम करने के साथ साथ इससे गैस, अपच तथा कब्ज की समस्या से भी राहत मिलती है।

पत्ता गोभी

पत्ता गोभी में टारटरिक एसिड पाया जाता है जो शुगर तथा कार्बोहाइड्रेट्स को फैट में बदलने से रोकता है। इसलिए आप अपने भोजन में पत्ता गोभी को अवश्य शामिल करें।

टमाटर

रोज सुबह खाली पेट 2 टमाटरों का सेवन करें। यह हमारी अतिरिक्त भूख को कम करता है।

पानी 

दिन में कम से कम 8 गिलास पानी पीएं तथा पानी कभी एक घूंट में न पीएं। पानी ऐसे पीएं जैसे गर्म चाय या दूध पी रहे हों। यह हमारे पाचन को ठीक रखता है। जिस कारण वजन भी नियंत्रित रहता है।

आपके कमैंट्स