धर्म

Hinduism is the World’s most sacred and the oldest religion. Hinduism is a way of life and is often called as the eternal law beyond human origins. Hindu practices include rituals such as worship and recitations, meditation, family-oriented rites of passage, annual festivals, and pilgrimages. Every Hindu should follow honesty, ahimsa, patience, forbearance, self-restraint, compassion….

क्यों कहते है कार्तिक पूर्णिमा को देव दीपावली – क्यो मनाई जाती है देव...

कार्तिक पूर्णिमा सभी पूर्णिमाओं में श्रेष्ठ  मानी जाती है। मान्यता है कि इस दिन भगवान शिव ने देवलोक पर हाहाकार मचाने वाले त्रिपुरासुर नाम के राक्षस का संहार किया था। उसके वध की खुशी में देवताओं ने इसी दिन दीपावली मनाई थी। हर साल लोग कार्तिक पूर्णिमा के दिन...

कैसे आया स्वर्ग का पेड़ धरती पर?

शास्त्रों में परिजात वृक्ष को स्वर्ग का पेड़ कहा गया है| परिजात वृक्ष को हमारे शास्त्रों में सर्वोत्तम स्थान प्राप्त है| परिजात वृक्ष के फूलों को लक्ष्मी तथा भगवान शिव की पूजा में प्रयोग किया जाता है| आयुर्वेद में परिजात वृक्ष को हारसिंगार कहा जाता है| आयुर्वेद में इसे औषधि के रूप में देखा...

सर्वोत्तम लाभ के लिए सोमवार को करें शिव जी की पूजा

सप्ताह के सातों दिन किसी न किसी ईश्वर की पूजा, भक्ति और व्रत के लिए होता हैं पर सोमवार का दिन हिन्दू धर्म परंपराओं के अनुसार भगवान शिव को समर्पित है। माना जाता है कि शिवजी की भक्ति हर पल ही शुभ होती है। सच्चे मन से पूजा की...

बंदी देवी मंदिर – जहां मां को प्रसन्न करने के लिए भक्त चढ़ाते हैं...

देवी माँ को प्रसन्न करने के लिए हम अनेक उपाय करते हैं| जैसे देवी माँ को फल और फूल चढ़ाना या मिठाई का भोग लगाना और सिंदूर चढ़ाना| यह सब प्रयत्न करने से देवी माँ अपने भक्तों से प्रसन्न होती हैं और उन पर अपनी कृपा बनाए रखती हैं| परन्तु...

महाभारत युद्ध के दौरान श्री कृष्ण क्यों खाते थे हर दिन मूंगफली

श्री कृष्ण के कारण ही महाभारत का युद्ध पांडवों के हित में रहा| युद्ध के समय श्री कृष्ण ने अनेक लीलाएं रची और पांडवों को युद्ध में विजय दिलवाई| इन लीलाओं में से एक लीला थी श्री कृष्ण का महाभारत के युद्ध के समय हर दिन मूंगफली खाना| श्री कृष्ण के...

जल में देवी देवताओं की मूर्तियों को विसर्जित करने का कारण

माना जाता है कि नौ द‌िनों की पूजा के बाद दसमी त‌िथ‌ि अर्थात दशहरे के द‌िन मां दुर्गा पृथ्वी से अपने लोक वापस जाती हैं| इसलिए दशहरे के दिन माँ की प्रतिमा के साथ - साथ अन्य देवी-देवताओं की प्रत‌िमा को जल में वसर्ज‌ित कर द‌िया जाता है| पहले देवी - देवताओं...

क्यों पसंद हैं भगवान शिव को धतूरा, भांग और जल

माना जाता है कि भगवान शिव की पूजा - अराधना सबसे सरल होती है| इन्हे प्रसन्न करने के लिए खोआ, मिठाई आदि की जरुरत नहीं होती| शिव जी को प्रसन्न करने के लिए मुफ्त में मिलने वाले बेलपत्र, धतूरा और एक लौटा जल ही काफी है| दरअसल यह तीनो चीजें भगवान...

इस समय अक्षय तृतीया की पूजा करने से होंगी मां लक्ष्मी प्रसन्न

अक्षय तृतीया के दिन भी दीपावली की तरह माँ लक्ष्मी की ही पूजा की जाती है| माना जाता है कि इस दिन शुभ मुहूर्त में किए गए सभी कार्यों में सफलता मिलती है| इस दिन माँ लक्ष्मी का घर में आगमन होता है| अक्षय तृतीया के दिन को हम माँ लक्ष्मी...

एक दीपक जलाने से बन सकते हैं बिगड़े काम

हम सभी अपने जीवन में भगवान की कृपा चाहते हैं और इसके लिए हम भगवान को प्रसन्न करने के लिए बहुत प्रयत्न भी करते हैं| परन्तु कई बार भगवान को प्रसन्न करने के लिए हमारे द्वारा की गयी मेहनत भी रंग नहीं लाती| जरूरी नहीं है कि भगवान को प्रसन्न...

कैसे बने हनुमान जी पंचमुखी

रामायण में एक प्रसंग आता है कि रावण और श्री राम के युद्ध के दौरान अहिरावन नाम का एक दानव भगवान श्री राम तथा लक्ष्मण जी को उठा कर पाताल लोक ले गया| अहिरावन माँ भवानी का बहुत बड़ा भक्त था| अहिरावन रावण का ही मायावी भाई था तथा...

जल में देवी देवताओं की मूर्तियों को विसर्जित करने का कारण

माना जाता है कि नौ द‌िनों की पूजा के बाद दसमी त‌िथ‌ि अर्थात दशहरे के द‌िन मां दुर्गा पृथ्वी से अपने लोक वापस जाती हैं| इसलिए...

जाने कहाँ स्थित है रावण के मूत्र का कुण्ड और क्या...

रावण भगवान् शिव का अनन्य भक्त था और उसकी भक्ति के कई किस्से प्रचलित हैं| परन्तु क्या आप जानते हैं की एक बार रावण...

The Story of Maharishi Dadhichi

Dadhichi, also known as Dadhyancha, is an important character in Hindu mythology. He was one of the greatest devotees of Lord Shiva. It is...

हिन्दू एक संस्कृति है, सभ्यता है – सम्प्रदाय नहीं

एक बार अकबर बीरबल हमेशा की तरह टहलने जा रहे थे! रास्ते में एक तुलसी का झाड दिखा मंत्री बीरबल ने झुक कर प्रणाम...

तुलसी का पौधा उगाते समय इन बात्तों का रखे ध्यान

तुलसी एक पवित्र जड़ी-बूटी है यह झाड़ी के रूप में उगता है और 2 से 3 फुट ऊँचा होता है।  इसकी पत्तियाँ बैंगनी आभा वाली...

धरती पर कब और कैसे हुई जहरीले जीवों की उत्पत्ति? यह...

बात उस समय की है महाराजा बलि नामक एक प्रतापी राजा हुआ करते थे| वो तीनों लोकों के अधिपति थे क्योंकि उन्हें दैत्य गुरु...

भगवद गीता (गुणत्रयविभागयोग- चौदहवाँ अध्याय : श्लोक 1 – 27)

अथ चतुर्दशोऽध्यायः- गुणत्रयविभागयोग (ज्ञान की महिमा और प्रकृति-पुरुष से जगत्‌ की उत्पत्ति) श्रीभगवानुवाच परं भूयः प्रवक्ष्यामि ज्ञानानं मानमुत्तमम्‌ । यज्ज्ञात्वा मुनयः सर्वे परां सिद्धिमितो गताः ॥ भावार्थ : श्री...