Home धर्म मंत्र

मंत्र

दीपावली : मात्र एक मंत्र, जो करेगा हर कामना पूर्ण

दीपों का पर्व ना सिर्फ खुशियां लेकर आता है बल्कि धार्मिक दृष्टि से भी भगवान का आशीष प्रदान करता है। अगर आप लंबी और बड़ी लक्ष्मी पूजा नहीं करना चाहते या आप जानते नहीं है कि प्रामाणिक पूजन कैसे होता है तो यह सरल लक्ष्मी मंत्र आपके लिए है। आपको...

एक ऐसा शक्तिशाली मन्त्र जिसे सुनने मात्र से ही खुल जाते है किस्मत के...

वैदिक परंपरा में मंत्रोच्चारण का विशेष महत्व माना गया है| अगर सही तरीके से शक्तिशाली-मंत्र का उच्चारण किया जाए तो यह जीवन की दिशा ही बदल सकते हैं| इसमेें भगवान विष्णु के एक हजार नामों का वर्णन किया गया है| मान्यता है कि इसके पढ़ने-सुनने से इच्छाएं पूर्ण होती हैं|...

शिवलिंग पूजा की विधि

शिवलिंग भगवान शिव और देवी पार्वती का आदि-अनादि रूप है| यह पुरुष और स्त्री की समानता का प्रतीक भी है| लिंग शब्द का अर्थ है- चिन्ह, निशानी या प्रतीक|  इस संसार में दो चीज़े हैं ऊर्जा और पदार्थ| हमारा शरीर पदार्थ है और आत्मा ऊर्जा है|  इसी प्रकार शिव...

Guha Panchakam – Mantra & Meaning

Lord Subramanya or Muruga is also known as Guha. 'Omkara Nagarastham Tham Nigamandha' is a great mantra which is believed to bring good wealth, cure diseases and leads to a happy and prosperous life. Come let us recite the mantras and also learn the deep meaning behind it. Omkara Nagarastham...

यमयातना से मुक्ति देने वाली यमुनाजी

वृन्दावन धाम को वास भलो, जहां पास बहै यमुना पटरानी । जो जन नहाय के ध्यान धरै, वैकुण्ठ मिलै तिनको रजधानी ।। चारहूं वेद बखान करै अस संत, मुनीश, गुणी मनमानी । यमुना यमदूतन टारत है, भव तारत है श्रीराधिका रानी ।। श्रीयमुनाजी का प्राकट्य और स्वरूप श्रीराधा माधव अंग ते प्रगट भई इक...

शीतला माता की यह पांच बाते जरुर जाने

शीतला माता को चेचक रोग की देवी बताया गया है| आपने सुना भी होगा की उस व्यक्ति या बच्चे के माता निकल गयी, और शरीर पर बहुत सारी फुंसियां हो गयी| 1) शीतला माता के चार हाथ बताये गये है जिसमे झाड़ू, कलश, नीम के पत्ते और सूप है| इन...

स्वतंत्रता के लिए प्रेरित करनेवाला महामंत्र ‘वन्दे मातरम्’ और इस का अर्थ

हर देश का एक राष्ट्रीय गीत होता है, उसी तरह हमारे भारत देश का राष्ट्रीय गीत ‘वन्दे मातरम’ है जिसे हमारे देश में बहुत महत्व दिया जाता है । राष्ट्रीय गीत ‘वन्दे मातरम’ बकिमचंद्र चटर्जी द्वारा लिखा गया था| सारे क्रांतिकारी, आंदोलनकर्ता, उपोषणकर्ता आदि द्वारा उच्चारे गए इस महामंत्र से...

हर संकट से मुक्ति दिलाएं ये 10 महाविद्याएं

हर एक को अपने-अपने जीवन में कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है| इन समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए व्यक्ति क्या-क्या नहीं करता| अगर मनुष्य इन 10 महाविद्याओं को पूर्ण समर्पण और श्रद्धा से तप करे, तो वह हर संकट से मुक्ति पा सकता है| इन महाविद्याओं के तप...

आरोग्य के देवता : धन्वंतरि

भगवान विष्णु के 12वें अवतार धन्वंतरि को देवताओं का चिकित्सक यानि वैद्य माना जाता है| समुद्र मंथन के दौरान धन्वंतरि 14 रत्नों में से एक थे| आइए जानते है कुछ बातें धन्वंतरि के बारे में :- हिन्दू धरम में धन्वंतरि आयुर्वेद के भगवान माने जाते हैं| इन्होने कई औषधियों की खोज की हैं| जिसके कारण...

मनोकामनाएं पूरी करने के लिए रखे नवरात्रें

नवरात्रि एक संस्कृत शब्द  है जिसका अर्थ है  'नौ रातें' तथा हिन्दू धर्म में इसकी अधिक मान्यता है| इन नौ रातों में नौ देवी रूपों की पूजा की जाती है और दसवें दिन दशहरा मनाया जाता है|  नवरात्रि के नौ रातों में महालक्ष्मी, सरस्वती और दुर्गा के नौ रूपों की पूजा की जाती है, जिन्हे नव...

गायत्री मंत्र: इस एक मंत्र से हो सकते है आपको अनेक लाभ

गायत्री मंत्र वेदों का महत्वपूर्ण और सर्वश्रेष्ट मंत्र है, जिसकी शक्ति ॐ के बराबर है| इसे सावित्री भी कहा जाता है क्योकि इस मंत्र में सवित्र देव की उपासना है| ऐसा माना जाता है कि गायत्री मंत्र का उच्चारण करने और इसका अर्थ समझने से भगवान की प्राप्ति होती है| शास्त्रों में इस जप...

भगवान शिव के प्रदोष व्रत रखने से होती है मोक्ष की प्राप्ति

प्रदोष व्रत भगवान शिव के लिए रखा जाता है| यह व्रत बहुत्त मंगलकारी होता है तथा इस व्रत को त्रयोदशी तिथि को रखा जाता है| यदि इस दिन आप व्रत रखें तो आपको भगवान शिव की कृपा प्राप्त होगी| मान्यता है कि प्रदोष काल में भगवान शिव कैलाश पर्वत...

इस मंत्र का जप करने से हो सकती है भगवान शिव की प्राप्ति

भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए हमें ज्यादा मेहनत करने की आवश्यकता नहीं होती है| सभी देवताओं में से भगवान शिव ही एक ऐसे देवता हैं जो केवल जल अर्पित करने से ही प्रसन्न हो जाते हैं और मनचाहा वरदान प्रदान करते हैं| यदि आप भगवान शिव की प्राप्ति...

हनुमान बाहुक पाठ से पाएं शारीरिक रोगों से मुक्ति

हनुमान बाहुक का पाठ हनुमान जी को प्रसन्न करने के लिया किया जाता है| हनुमान बाहुक का निरन्तर पाठ करने से मनोवांछित मनोरथ की प्राप्ति होती है| शारीरिक रोगों के अतिरिक्त और भी सब प्रकार की लौकिक बाधाएँ इस स्तोत्र से निवृत होती हैं| इससे मानसरोग मोह, काम, क्रोध, लोभ एवं राग-द्वेष...

हनुमान जी की पूजा से शांत रहते हैं शनिदेव

हनुमान जी को बल, बुद्धि, विद्या, शौर्य और निर्भयता का प्रतीक माना जाता है। शास्त्रों के अनुसार अगर किसी भी संकट या परेशानी में हनुमानजी को याद किया जाए तो वह विपदा को हर लेते हैं और इसीलिए उन्हें संकटमोचन कहा गया है। बजरंग बली ने शनि महाराज को कष्टों...

हनुमान जी का चमत्कारी साबर मंत्र करता है आपकी रक्षा

राम भक्त हनुमान जी की अराधना करने से सब कष्टों से मुक्ति मिलती है| वैसे तो हनुमान जी सदैव अपने भक्तों पर अपनी कृपा बनाए रखते हैं| लेकिन यदि आपको डर लग रहा है या आपको कोई भूत - प्रेत का खतरा नजर आ रहा है या आप जंगल में कहीं...