Home धर्म मंत्र

मंत्र

यमयातना से मुक्ति देने वाली यमुनाजी

वृन्दावन धाम को वास भलो, जहां पास बहै यमुना पटरानी । जो जन नहाय के ध्यान धरै, वैकुण्ठ मिलै तिनको रजधानी ।। चारहूं वेद बखान करै अस संत, मुनीश, गुणी मनमानी । यमुना यमदूतन टारत है, भव...

शीतला माता की यह पांच बाते जरुर जाने

शीतला माता को चेचक रोग की देवी बताया गया है| आपने सुना भी होगा की उस व्यक्ति या बच्चे के माता निकल गयी, और शरीर पर बहुत सारी फुंसियां हो गयी| 1) शीतला माता के...

स्वतंत्रता के लिए प्रेरित करनेवाला महामंत्र ‘वन्दे मातरम्’ और इस का अर्थ

हर देश का एक राष्ट्रीय गीत होता है, उसी तरह हमारे भारत देश का राष्ट्रीय गीत ‘वन्दे मातरम’ है जिसे हमारे देश में बहुत महत्व दिया जाता है । राष्ट्रीय गीत ‘वन्दे मातरम’ बकिमचंद्र...

हर संकट से मुक्ति दिलाएं ये 10 महाविद्याएं

हर एक को अपने-अपने जीवन में कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है| इन समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए व्यक्ति क्या-क्या नहीं करता| अगर मनुष्य इन 10 महाविद्याओं को पूर्ण समर्पण और श्रद्धा...

आरोग्य के देवता : धन्वंतरि

भगवान विष्णु के 12वें अवतार धन्वंतरि को देवताओं का चिकित्सक यानि वैद्य माना जाता है| समुद्र मंथन के दौरान धन्वंतरि 14 रत्नों में से एक थे| आइए जानते है कुछ बातें धन्वंतरि के बारे में :- हिन्दू धरम...

मनोकामनाएं पूरी करने के लिए रखे नवरात्रें

नवरात्रि एक संस्कृत शब्द  है जिसका अर्थ है  'नौ रातें' तथा हिन्दू धर्म में इसकी अधिक मान्यता है| इन नौ रातों में नौ देवी रूपों की पूजा की जाती है और दसवें दिन दशहरा मनाया जाता है|  नवरात्रि के नौ...

गायत्री मंत्र: इस एक मंत्र से हो सकते है आपको अनेक लाभ

गायत्री मंत्र वेदों का महत्वपूर्ण और सर्वश्रेष्ट मंत्र है, जिसकी शक्ति ॐ के बराबर है| इसे सावित्री भी कहा जाता है क्योकि इस मंत्र में सवित्र देव की उपासना है| ऐसा माना जाता है कि गायत्री मंत्र का...

भगवान शिव के प्रदोष व्रत रखने से होती है मोक्ष की प्राप्ति

प्रदोष व्रत भगवान शिव के लिए रखा जाता है| यह व्रत बहुत्त मंगलकारी होता है तथा इस व्रत को त्रयोदशी तिथि को रखा जाता है| यदि इस दिन आप व्रत रखें तो आपको भगवान...

इस मंत्र का जप करने से हो सकती है भगवान शिव की प्राप्ति

भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए हमें ज्यादा मेहनत करने की आवश्यकता नहीं होती है| सभी देवताओं में से भगवान शिव ही एक ऐसे देवता हैं जो केवल जल अर्पित करने से ही प्रसन्न...

हनुमान बाहुक पाठ से पाएं शारीरिक रोगों से मुक्ति

हनुमान बाहुक का पाठ हनुमान जी को प्रसन्न करने के लिया किया जाता है| हनुमान बाहुक का निरन्तर पाठ करने से मनोवांछित मनोरथ की प्राप्ति होती है| शारीरिक रोगों के अतिरिक्त और भी सब प्रकार की...