सभी रोगों से मुक्ति के लिए बुधवार को अवश्य करें 108 बार इस मंत्र का जाप

बुधवार ऐसे तो भगवान् विष्णु के अवतार श्री विट्ठल जी को समर्पित है जो की महाराष्ट्र, कर्नाटक, गोवा, तेलंगाना और आन्ध्र प्रदेश में पूजे जाते हैं| पर शायद ही आप को पता हो की जिस व्यक्ति की राशि में बुध कमजोर होता है वो कई तरह के रोगों से पीड़ित रहते हैं जैसे की पित्त, बलगम, गुदा, जांघे, वायु, त्वचा, नाडी प्रणाली का कारक है| साथ ही व्यक्ति को बोलने के अंगों और दिमाग में असन्तुलन हो सकता है कमजोर बुध दिमागी रोगी बना देता है. मानसिक रोग, खुजली, नपुंसकता, ज्वर, हड्डियों का चटकना, जवर, गर्दन में दर्द, बवासीर, अपच, जिगर, पेट, खुजली, आंन्तों की समस्याएं आदि परेशान करती हैं| इन्सभी रोगों का निराकरण है बुधवार को सम्पूर्ण श्रद्धा के साथ 108 बार बुध मंत्र का जाप| अगर आप जाप करने में असमर्थ हैं तो इसे सुन भी सकते है इससे भी बुध शांत होता है व्यक्ति को निरोगी काया के साथ साथ उच्च पद भी प्रदान कराता है|

आपके कमैंट्स