मनुष्य जीवन में बदलाव लाने के लिए आज से ही उपयोग में लाएं चांदी

शास्त्रों के अनुसार हिंदू धर्म में चांदी को बहुत शुद्ध, सात्विक और पवित्र धातु माना गया है| जहाँ चांदी होती है, वहां वैभव और सम्पन्नता आती है| चांदी का प्रयोग कई रूपों में होता है, जैसे गहने, मूर्तियां, बर्तन और सिक्के इत्यादि में, अगर ये चीज़े आप उपयोग में लाते है तो इससे आपके जीवन में सुख, वैभव और सम्पूर्णता का प्रवेश होगा| यह हर तरीके से आपको फायदा ही पहुंचाती है| 

ऐसा माना जाता है कि चांदी भगवान शिव के नेत्रों से उत्पन्न हुई थी| इसलिए ज्योतिष विद्या में चांदी का सम्बन्ध चंद्रमा और शुक्र से माना जाता है| मूल्यवान होने के साथ साथ चांदी का असर हमारे ग्रहों पर भी गहरा होता है| चांदी के प्रयोग से हमारा मन मजबूत और दिमाग तेज होता है| चंद्रमा की समस्याओ को शांत करना हो तो चांदी को प्रयोग में लाएं| इसके इलावा चांदी का प्रयोग शुक्र को मजबूत करके मन को प्रसन्न रखने के लिए भी किया जाता है|

चांदी को कैसे करें उपयोग:

  • चांदी का सबसे चमत्कारी उपाय छल्ले के रूप में किया जाता है, चांदी का छल्ला दाएं हाथ की कनिष्ठा अंगुली में पहनना सबसे अच्छा रहता है| ऐसा करने से चंद्रमा मजबूत होता है और मन संतुलित रहता है| इससे आपको बहुत जल्द अपने जीवन में बदलाव देखने को मिलेगा| 
  • चांदी की चेन गले में पहनने से वाणी शुद्ध हो जाती है और हार्मोन्स भी नियंत्रित होते हैं और इसके साथ साथ कफ और पित को भी काबू में लाया जा सकता है|
  • अगर आप चांदी का ग्लास इस्तेमाल कर उसमे पानी पीते है तो आपकी सर्दी और खांसी की समस्या से मुक्ति हो सकती है| वही चांदी की कटोरी और चम्मच से शहद खाने से शरीर से जीवविष भी बाहर निकलते है|

चांदी के उपयोग से कैसे हो सकता है आपको लाभ: 

चांदी हमारे लिए बहुत लाभकारी होती है, जो आपको धन लाभ में सहायता करती है| ज्योतिष के अनुसार चांदी का सम्बन्ध चंद्रमा और शुक्र दोनों से है, अब यदि किसी के जीवन में सुख की कमी हो तो उस मनुष्य को प्रतिदिन प्रातः उठ कर, अगर रोजाना न हो पाएं तो वीरवार को जरूर करें, चांदी के बर्तन में केसर को घोल कर माथे पर तिलक लगाने से सुख, समृद्धि और शान्ति की प्राप्ति होती है|

अर्क, छाक यानि छिला, पीपल की जड़, गूलर की जड़, खेजड़े की जड़, दुर्वा और कुशा की जड़ आदि सामग्री लेकर चांदी की डिब्बी में रख कर नित्य पूजा करने से जीवन में कभी असफलता का सामना नहीं करना पड़ेगा| इससे आपकी कुंडली के नौ गृह शांत रहेंगे और आपकी सम्पति में वृद्धि होगी|

अगर किसी की कुंडली में राहु और केतु समस्या पैदा कर रहे हो तो उसे चांदी का 200 ग्राम का एक हाथी बनवाकर अपने घर में रखना चाहिए| इससे राहु और केतु के बुरे प्रभाव काफी हद तक शांत हो जाते है|

व्यापार सम्बन्धी समस्याओ से परेशान व्यक्ति को महीने के पहले गुरुवार को पीले कपड़े में काली हल्दी, 11 गोमती चक्र, एक चांदी का सिक्का और ग्यारह कौड़ियां बांध कर इस मन्त्र का 108 बार जाप करना चाहिए और इस कपड़े को दफ्तर और व्यापार सम्बन्धी किसी भी पवित्र स्थान पर रखने से समस्याएं दूर होंगी और व्यापार में वृद्धि होगी|

मंत्र है:  ॐ नमो भगवते वासु देवाये

चांदी को उपयोग में लेकर ऊपर दिए गए उपायों को करने से आप अपने जीवन को खुशहाल बना सकते है|

क्या आपने पढ़ा?

बृहस्पति देव की आरती... जय बृहस्पति देवा, ऊँ जय बृहस्पति देवा । छि छिन भोग लगाऊँ, कदली फल मेवा ॥ तुम पूरण परमात्मा, तुम अन्तर्यामी । जगतपिता जगद...
किसने दिया था भारत को ‘सोने की चिड़िया’... अगर हम भारत के इतिहास के बारे में बात करें तो सबसे पहले अंग्रेज़ो की गुलामी का ही प्रसंग सुनने को मिलता है| परन्तु हम बात कर र...
अपने माता-पिता से आपका व्यवहार कैसा है इसके पीछे क... पूर्व जन्मों के कर्मों से ही हमें इस जन्म में माता-पिता, भाई-बहन, पति-पत्नि, प्रेमी-प्रेमिका, मित्र-शत्रु, सगे-सम्बन्धी इत्या...
अच्छा हुआ हम इन्सान नहीं बने... आज बन्दर और बन्दरिया के विवाह की वर्षगांठ थी । बन्दरिया बड़ी खुश थी एक नज़र उसने अपने परिवार पर डाली। तीन प्यारे-प्यारे बच्चे...
हिंदुस्तान में वह कौनसी जगह है जहाँ आज भी रात को ग... भारत में आज भी कई ऐसी जगहें हैं जहाँ के बारे में लोगों को नहीं पता| ऐसी ही जगहों में से एक है पुणे का शनिवार वाडा| शनिवार वाड...
loading...

Leave a Reply

avatar
500
  Subscribe  
Notify of