कहानियाँ

हनुमान जी को प्रसन्न कर के बचा जा सकता है शनि देव के प्रकोप...

एक बार शनि देव किसी कार्य से कहीं जा रहे थे| मार्ग में उन्हें हनुमान जी मिले जो कि भगवान श्री राम के किसी कार्य में व्यस्त थे| हनुमान जी को देखकर शनि देव को...

श्री राम नहीं करना चाहते थे अपनी पत्नी सीता जी का त्याग

रामायण में श्री राम को मर्यादा पुरुषोत्तम कहा गया है| किन्तु फिर भी श्री राम की कई बार आलोचना की जाती है कि उन्होंने अपनी गर्भवती पत्नी का त्याग कर उन्हें वन में भेज दिया था| परन्तु...

अच्छा हुआ हम इन्सान नहीं बने

आज बन्दर और बन्दरिया के विवाह की वर्षगांठ थी । बन्दरिया बड़ी खुश थी एक नज़र उसने अपने परिवार पर डाली। तीन प्यारे-प्यारे बच्चे, नाज उठाने वाला साथी, हर सुख-दु:ख में साथ देने वाली...

क्यों किया ब्रह्मा ने अपनी ही पुत्री से विवाह

ब्रह्मा जी को सृष्टि का रचियता कहा जाता है| हम सभी जानते हैं कि ब्रह्मा जी की पत्नी विद्या की देवी सरस्वती हैं| परन्तु क्या आप जानते हैं कि सरस्वती जी ब्रह्मा की ही...

श्रवण कुमार अपने माता पिता की सेवा के लिए क्यों जाने जाते हैं?

श्रवण कुमार अपने माता - पिता की सेवा के लिए जाने जाते हैं| वाल्मीकि रामायण के अयोध्याकाण्ड के 64वें अध्याय में श्रवण कुमार की कथा मिलती है| श्रवण कुमार के माता - पिता अंधे थे| इस कथा...

किस एक पाप के कारण युधिष्ठिर को नर्क देखना पड़ा

द्रोणाचार्य एक बहुत वीर योद्धा थे| महाभारत के युद्ध के समय उन्होंने बहुत वीरता दिखाई और युद्ध भूमि में उनके रणकौशल को देखकर पांडव-सेना के बड़े-बड़े महारथी भी चिंतित हो उठे थे| द्रोणाचार्य के दिव्यास्त्रों से सभी...

कैसे आया स्वर्ग का पेड़ धरती पर?

शास्त्रों में परिजात वृक्ष को स्वर्ग का पेड़ कहा गया है| परिजात वृक्ष को हमारे शास्त्रों में सर्वोत्तम स्थान प्राप्त है| परिजात वृक्ष के फूलों को लक्ष्मी तथा भगवान शिव की पूजा में प्रयोग किया जाता है|...

देवी सीता के जन्म की अनमोल कथा

रामायण में देवी सीता को जानकी भी कहा गया है| देवी सीता के पिता का नाम जनक था| सीता जी उनकी गोद ली हुई पुत्री थी| आईए जानते हैं कि देवी सीता का जन्म...

साड़ी के टुकड़े – संत कबीर दास की कथा

एक समय की बात है एक नगर में अत्यंत शांत, नम्र तथा वफादार जुलाहा रहता था| उस जुलाहे ने अपने जीवन में कभी क्रोध नहीं किया था| उस नगर के कुछ लड़कों ने मिलकर सोचा...

समय से पहले और भाग्य से ज्यादा कभी नही मिलता

एक सेठ जी थे  - जिनके पास काफी दौलत थी। सेठ जी ने अपनी बेटी की शादी एक बड़े घर में की थी। परन्तु बेटी के भाग्य में सुख न होने के कारण उसका...

पूरी दुनिया में सबसे बड़ा बल कौनसा है?

एक दिन एक किसान का बैल कुएँ में गिर गया । वह बैल घण्टों ज़ोर-ज़ोर से रोता रहा, किसान सुनता रहा और विचार करता रहा कि उसे क्या करना चाहिए और क्या नहीं। आखिरकार...

देवी सीता को भी उठाने पड़े थे हथियार

एक बार भगवान श्री राम अपनी राजसभा में विराजमान थे| उसी समय वहां विभीषण का आगमन हुआ| विभीषण बहुत चिंतित और भयभीत लग रहे थे| सभा में पहुँच कर उन्होंने श्री राम को प्रणाम किया...