कहानियाँ

कौन जाएगा स्वर्ग और कौन नर्क

एक समय कि बात है एक गाँव में एक ब्राह्मण और वैश्या एक दूसरे के पड़ोस में रहते थे। ब्राह्मण पूरा दिन भगवान कि पूजा पाठ में लगा रहता था। वह सारा दिन अनंत कर्मकांड करने के लिए प्रसिद्ध था। परन्तु उसके मन में स्वयं को महान संत समझने का घमंड...

निरंतर प्रयास ही सफलता की कुंजी है

एक गांव में एक पुजारी रहते थे। वह हमेशा धर्म कर्म के कामों में लगे रहते थे। एक दिन वह जंगल के रास्ते से साथ वाले गाँव में जा रहे थे। जंगल में उनकी नजर एक विशाल पत्थर पर पड़ी उस पत्थर को देखकर उसके मन में विचार आया कि...

ईश्वर की मर्जी में रहें खुश

हमें जीवन में जो भी मिलता है। हम उसमें कभी खुश नही होते। हमें भगवान का दिया हुआ सब कम लगता है। हम सोचते हैं कि हम भगवान से जो मांगते हैं। वह हमारे लिए सही है। परन्तु हम यह भूल जाते हैं कि भगवान हमारे लिए हमसे भी अच्छा सोचता...

जीवन की हर समस्या में हमें धैर्य और विवेक से काम लेना चाहिए

कई बार हमारे जीवन में ऐसा समय आता है कि हमें किसी बड़ी समस्या का सामना करना पड़ता है। अक्सर ऐसे समय में हम अपना धैर्य खो देते हैं। परन्तु हमें चाहिए कि हम धैर्य और विवेक से काम लें। चाणक्य ने भी यह बात कही है कि इंसान...

जीवन में किया गया कोई भी बदलाव छोटा या बड़ा नही होता

जीवन में किया गया कोई भी बदलाव छोटा या बड़ा नही होता। अपनी क्षमताओं पर भरोसा रख कर किया जाने वाला कोई भी बदलाव छोटा नहीं होता और वो हमारी जिन्दगी में एक नीव का पत्थर भी साबित हो सकता है। आईये जानते हैं कि जीवन में किस प्रकार...

होनी को कोई नहीं टाल सकता: जो होना है वो हो कर ही रहेगा

एक दिन भगवान विष्णु के वाहन गरुड़ देव के मन में विचार आया की क्यों ना एक बार पृथ्वी लोक का भ्रमण किया जाए| अपने भ्रमण के दौरान जब गरुड़ देव भगवान विष्णु के पाटिल पुत्र मंदिर पहुंचे तो उनकी नज़र वहां के चबूतरे पर बैठे थर थर कांपते...

दीन दुखियों की सेवा ही असली सेवा है

एक समय की बात है एक रियासत में एक राजमाता रहती थी। वह बहुत धार्मिक विचारों की स्त्री थी। एक दिन राजमाता ने सोचा कि क्यों न सोने का तुला दान कर के मंदिर में चढ़ाया जाए। राजमाता ने अपने मन में आये विचार को अंजाम तो दिया। परन्तु ऐसा...

माता पिता निस्वार्थ प्रेम और त्याग के बदले सिर्फ प्रेम की अपेक्षा रखते हैं

एक बच्चे को आम का पेड़ बहुत पसंद था। जब भी फुर्सत मिलती वो आम के पेड के पास पहुच जाता। पेड के उपर चढ़ता,आम खाता,खेलता और थक जाने पर उसी की छाया मे सो जाता। उस बच्चे और आम के पेड के बीच एक अनोखा रिश्ता बन गया।...

चिड़ियों से मैं बाज लडाऊं , गीदड़ों को मैं शेर बनाऊ

श्री "गुरूग्रँथ" साहिब जी - 'गुरुबाणी' में परम पिता 'परमात्मां' के लिये प्रयोग किये गए 16 "नाम" ? हरी - 50 बार ? राम - 1758 बार ? प्रभू - 1314 बार ? गोबिन्द - 204 बार ? मुरारी - 42 बार ? ठाकुर - 238 बार ? गोपाल - 109 बार ? परमेशर - 16 बार ?...

लक्ष्मण जी ने श्री राम के लिए किया था एक ऐसा त्याग जिसकी आप...

आप सब ने रामायण के अनेक प्रसंग सुने होंगे। परन्तु आज हम जो प्रसंग आप को बताने जा रहे हैं उसके बारे में बहुत कम लोगों को ज्ञात होगा। हनुमान जी की तरह लक्ष्मण जी की भी श्री राम के प्रति भक्ति बहुत अदभुत थी। आइये जानते हैं लक्ष्मण...

शिव के पहले ज्योतिर्लिंग की स्थापना क्यों और किसने की थी

भगवान शिव के 12 ज्योतिर्लिंगों में सबसे पहला ज्योतिर्लिंग सोमनाथ ज्योतिर्लिंग है जो की गुजरात के सौराष्ट्र में मौजूद है| शिव पुराण के अनुसार इस ज्योतिर्लिंग की स्थापना स्वयं चंद्रदेव ने की थी| प्रजापति दक्ष की 27 पुत्रियों का विवाह चंद्रदेव के साथ हुआ था परन्तु चंद्रदेव अपनी 27...

14 वर्ष के वनवास में प्रभु श्री राम कहां-कहां रहे

श्रीराम को 14 वर्ष का वनवान हुआ। इस वनवास काल में श्रीराम ने कई ऋषि-मुनियों से शिक्षा और विद्या ग्रहण की, तपस्या की और भारत के आदिवासी, वनवासी और तमाम तरह के भारतीय समाज को संगठित कर उन्हें धर्म के मार्ग पर चलाया। संपूर्ण भारत को उन्होंने एक ही...

मौत के बाद क्या आखिर होता क्या है? जब बुद्ध से पूछा गया ये...

एक बार बुद्ध से उनके एक शिष्य ने पूछा, भगवन आपने आज तक यह नहीं बताया कि मृत्यु के बाद क्या होता है। उसकी बात सुनकर बुद्ध मुस्कुराए, फिर उन्होंने उससे पूछा, पहले मेरी एक बात का जबाव दो। अगर कोई कहीं जा रहा हो और अचानक कहीं से...

खुशी तुम्हारे अन्दर है, लेकिन तुम उसे पैसे और बाहरी वस्तुओं में ढूंढ रहे...

एक गाँव में एक बहुत अमीर व्यक्ति रहता था। उसके जीवन में कोई कमी नही थी। परन्तु वह फिर भी बहुत चिंतित रहता था। एक दिन उसके एक मित्र ने उसे एक ऋषि के बारे में बताया और कहा कि वह ऋषि बहुत ज्ञानी है। तुम्हे उनके पास अपनी चिंता का हल...

बिहारी जी किसी का उधार नही रखते

एक बार की बात है। वृन्दावन में एक संत रहा करते थे। उनका नाम था कल्याण, वे बाँके बिहारी जी के परमभक्त थे। एक बार उनके पास एक सेठ आया, अब था तो सेठ… लेकिन कुछ समय से उसका व्यापार ठीक से नही चल रहा था। उसको व्यापार में...

हमारे जीवन में काले बिंदु का स्थान बहुत छोटा है

एक विद्यालय में एक बहुत ही समझदार और सुलझे हुए अध्यापक पढ़ाते थे। उन्हें जीवन का बहुत अनुभव था। एक बार उन्होंने अपने विद्यार्थियों की परीक्षा लेने का निश्चय किया। इसी उद्देश्य से उन्हने कक्षा में पहुँच कर सभी विद्यार्थियों को प्रश्न पत्र दिए, जिसमें बहुत सारे प्रश्न लिखे हुए थे।...

कुछ लोग मुसीबत को देखकर घबरा जाते हैं – महात्मा बुद्ध की कहानी

एक समय की बात है, महात्मा बुद्ध बोद्ध धर्म के प्रचार के लिए विश्व भर में भ्रमण कर रहे थे। बोद्ध धर्म का प्रचार करते हुए वह अपने शिष्यों के साथ एक गाँव में पहुंचे। गाँव में घूमते हुए उन्हें काफी देर हो गयी। इतना घुमने के बाद महात्मा बुद्ध...

A Collection of 7 stories of Lord Krishna

Lord Krishna and Arishthasura One day, a massive bull came to Vrindavan and started attacking the people. Nobody knew where it came from, and everyone started running helter-skelter to save their lives. They then came to Krishna to ask for his help. When Krishna came face to face with the bull,...

राधा कृष्ण से जुड़ी होली की कथा

होली को रंगों का त्योहार कहा जाता है। यह फाल्गुन मास की पूर्णिमा को मनाया जाता है। इस दिन लोग भेदभाव छोड़कर एक दूसरे को रंग लगाते हैं। ब्रज में होली का त्योहार करीब एक हफ्ते तक चलता है और रंगपंचमी पर खत्म होता है। हम सभी जानते हैं...

मौनी अमावस्या की पौराणिक कथा

पुराणों के अनुसार कांचीपुरी में एक ब्राह्मण रहता था। उसका नाम देवस्वामी तथा उसकी पत्नी का नाम धनवती था। उनके सात पुत्र तथा एक पुत्री थी। पुत्री का नाम गुणवती था। ब्राह्मण ने सातों पुत्रों को विवाह करके बेटी के लिए वर खोजने अपने सबसे बड़े पुत्र को भेजा। उसी...

कल करे सो आज कर – कैसे एक गुरु ने अपने शिष्य को यह...

बहुत समय पहले की बात है। एक गाँव मे एक आलसी व्यक्ति रहता था। वह काम करने में बहुत आलस्य दिखाता था। परन्तु वह अपने गुरु का बहुत सम्मान करता था। वह गुरु भी अपने शिष्य से बहुत स्नेह करते थे। परन्तु वह अपने शिष्य की आज के काम को कल...

हमारी सोच हमें दुखी करती है – एक प्रेरणादायक कहानी

एक किसान का घर अपने गाँव से बहुत दूर था। वह किसान बहुत अमीर था। उसके घर में किसी प्रकार की कोई कमी नही थी। जीवन में सब कुछ होने के बाद भी वह एक बात से दुखी था। उसका घर गाँव से दूर होने की वजह से उसे लगता...