ज्योतिष

Jyotisha is the traditional Hindu system of astrology, also known as Hindu Astrology, Indian astrology, and more recently Vedic astrology. Aries (Mesh), Taurus (Vrishabha), Gemini (Mithun), Cancer (Kark), Leo (Simha), Virgo (Kanya), Libra (Tula), Scorpius (Vrishchik), Sagittarius (Dhanu), Capricorn (Makar), Aquarius (Kumbh), Pisces (Meen).

संकटों से मुक्ति पानी हो तो पालें घर में कुत्ता और करें उसकी सेवा

कुत्ता मनुष्य के पालतू पशुओं में से एक महत्त्वपूर्ण जानवर है| हिन्दू धर्म के पुराणों में कुत्ते को यम का दूत कहा गया है| पालतू जानवर सबसे अच्छे साथी होते हैं, कुत्ता बड़ा ही संवेदनशील और होशियार जानवर माना जाता है क्योंकि कुत्ते वफादार होते हैं और घरों की रखवाली के लिए...

क्या मिल सकते है लाभ संध्या वंदन से जो सभी हिन्दुओं का है कर्तव्य

रात्रि में अनजाने में हुए पाप-दोष सुबह की पूजा वंदना से दूर होते हैं, सुबह से दोपहर तक के दोष दोपहर की संध्या से और दोपहर के बाद अनजाने में हुए पाप शाम की संध्या करने से नष्ट हो जाते हैं| संध्या वंदन- सूर्य और तारों से रहित दिन और रात के...

मनुष्य जीवन में बदलाव लाने के लिए आज से ही उपयोग में लाएं चांदी

शास्त्रों के अनुसार हिंदू धर्म में चांदी को बहुत शुद्ध, सात्विक और पवित्र धातु माना गया है| जहाँ चांदी होती है, वहां वैभव और सम्पन्नता आती है| चांदी का प्रयोग कई रूपों में होता है, जैसे गहने, मूर्तियां, बर्तन और सिक्के इत्यादि में, अगर ये चीज़े आप उपयोग में लाते है तो इससे...

विभिन्न प्रकार के लाफिंग बुद्धा जो दूर करते है दुर्भाग्य

आज कल का जीवन इतना कठिन हो गया है कि शांति से जीने का कोई रास्ता नज़र नहीं आता| हर किसी को समस्याओं का सामना करना पढ़ता है| ज्योतिषशास्त्र, कुरान, गीता आदि सब सुखी जीवन जीने के उपाय बताते हैं, वास्तुशास्त्र के बारे में तो आप सब जानते ही होंगे| आप में...

घर बनाए वास्तु शास्त्र के अनुसार, तभी मिलेगा लाभ

प्राचीन काल से चलता आ रहा भारतीय समाज में 'वास्तु शास्त्र' का हमारे जीवन में बहुत महत्व है| वास्तु भारतीय समाज की पुरानी परम्परा है, यदि जीवन सुखमय और खुशहाल बनाना हो तो वास्तु के नियम का पालन करें| वास्तु शास्त्र के अनुसार भवन निमार्ण करने के साथ-साथ घर की वस्तुओं को ठीक जगह...

आइए जानते है अच्छी भावना और तरीके से कैसे करें नमस्कार और क्या है...

नमस्ते और नमस्कार भारतीय संस्कृति का एक एहम हिस्सा है, किसी से मिलते समय दोनों हथेलियों को मिलाकर सामान्य नमस्कार की जाती है| यह नमस्कार विभिन्न धर्मों में भिन्न-भिन्न नामों से प्रचलित है। कहीं लोग राम-राम, जय श्रीराम करते हैं तो कहीं नमस्ते, नमस्कार, जय माता की, राधे राधे  बोल कर मिलते हैं। अन्य धर्मों में सलाम...

क्या है टैरो कार्ड रीडिंग? इसके तरीके और इसे जुड़ी कुछ बातें

ज्योतिष की दुनिया में भविष्य की जानकारी देने वाली जन्म-कुंडली, हस्तरेखाएं, अंकज्योतिष आदि विधाओं में मौजूद एक विधा टैरो कार्ड रीडिंग भी है| टैरो कार्ड जो की ताश के पत्तों की तरह दिखते है, उसके ऊपर कुछ रहस्यमय और रंगीन चित्र बने होते है जो लोगों का भविष्य जानने के लिए इस्तेमाल...

मनोकामनाएं पूरी करने के लिए रखे नवरात्रें

नवरात्रि एक संस्कृत शब्द  है जिसका अर्थ है  'नौ रातें' तथा हिन्दू धर्म में इसकी अधिक मान्यता है| इन नौ रातों में नौ देवी रूपों की पूजा की जाती है और दसवें दिन दशहरा मनाया जाता है|  नवरात्रि के नौ रातों में महालक्ष्मी, सरस्वती और दुर्गा के नौ रूपों की पूजा की जाती है, जिन्हे नव...

क्या आप भी अपने विदेश जाने के सपने को पूरा करना चाहते है, तो...

आज के समय में विदेश जाने का सपना हर एक युवा रखता है, विदेश का नाम सुनकर ही उनकी आँखों में एक अलग सी चमक देखने को मिलती है| लोग विदेश घूमने, पढ़ने, व्यापार करने के लिए जाते है और वहाँ जाकर अपना और अपने देश का नाम रोशन करना...

जानिए मस्तक पर कौन सी रेखाएं होती हैं व उनका किसी व्यक्ति के स्वभाव...

भारत में वैदिक काल से प्रचलित सामुद्रिक शास्त्र के अनुसार माथे की रेखाओं के आधार पर किसी इंसान के भूत, भविष्य और वर्तमान व स्वभाव की जानकारी प्राप्त हो सकती है| इसके लिए किसी भी व्यक्ति के माथे की स्थिति, आकार-प्रकार, रंग तथा चिकनाई का विशेष ध्यान रखना चाहिए| सामुद्रिक शास्त्र में मस्तक के 3...

क्या आपको पता है कि घोड़े की नाल क्यों लायी जाती है प्रयोग में

घोड़े की नाल, सिर्फ काले घोड़े की, कोई साधारण नाल नहीं है| काले घोड़े के दाहिने पाँव की नाल को बहुत शुभ माना जाता है| आज के समय में हजारों लोगों को यह जानने की इच्छा होती है की घोड़े की नाल से उन्हें क्या क्या फायदे और लाभ मिल सकते...

गायत्री मंत्र: इस एक मंत्र से हो सकते है आपको अनेक लाभ

गायत्री मंत्र वेदों का महत्वपूर्ण और सर्वश्रेष्ट मंत्र है, जिसकी शक्ति ॐ के बराबर है| इसे सावित्री भी कहा जाता है क्योकि इस मंत्र में सवित्र देव की उपासना है| ऐसा माना जाता है कि गायत्री मंत्र का उच्चारण करने और इसका अर्थ समझने से भगवान की प्राप्ति होती है| शास्त्रों में इस जप...

भूत, भविष्य और वर्तमान की जानकारी देती है हस्तरेखाएँ

प्राचीन काल से अपने भविष्य को जानने की तीन प्रक्रियाएं चलती आ रही है- ज्योतिष शास्त्र, अंक ज्योतिष और हस्त शास्त्र| हाथों की लकीरें पढ़कर एक व्यक्ति को उसके भूतकाल, वर्तमान और भविष्य की जानकारी देने की कला को हस्त अध्यन और हस्त शास्त्र कहते है| बड़े बुजुर्ग कहते है की हमारी किस्मत हमारे हाथों में...

क्या आप भी भूत प्रेत के प्रभाव से पाना चाहते है मुक्ति ?

आज के समय में कुछ लोग भूत प्रेत में विश्वास रखते है और कुछ लोगों के लिए ये बातें फिजूल की है और जो लोग इन बातों में विश्वास रखते है वे भूत प्रेत आत्माओं से बहुत पीड़ित है| पशुयोनि, पक्षियोनि और मानव योनि में जीवन व्यवीत करने के पश्चाप, कुछ मान्यताओं के...

स्वस्तिक: क्यों माना जाता है शुभ मंगल का प्रतीक

प्राचीन काल से भारतीय संस्कृति में कोई भी शुभ कार्य करने से पहले स्वस्तिक चिन्ह दीवार, थाली या ज़मीन पर बनाकर उसकी पूजा की जाती है| इसे शुभ मंगल का प्रतीक कहा गया है| स्वस्तिक शब्द 'सु' एवं 'अस्ति' के मिश्रण से बना है, सु का अर्थ होता है- शुभ और अस्ति...

कछुआ पालने से किस प्रकार आपको हो सकता है लाभ

कछुआ जल और स्थल दोनों जगह पाए जाने वाला जीव है, इनकी चार टांगे और गर्दन बाहर की ओर निकली रहती है| भारत के पुराणों में कछुए का काफी जिक्र होता आया है| भगवान विष्णु का एक रूप कछुआ भी है| भगवान विष्णु ने कछुए का रूप धारण कर क्षीरसागर के...

हिन्दू धर्म में क्या मान्यता है जनेऊ धारण करने की, जानिए इसका रहस्य और...

जनेऊ एक पवित्र सफ़ेद रंग का तीन धागों वाला सूत्र है, जिसे 'उपनयन संस्कार' के समय धारण किया जाता है और संस्कृत में इसे 'यज्ञोपवीत संस्कार' कहा जाता है|इस सूत से बने पवित्र धागे को बाएं कंधे के ऊपर से लेकर दाएं कंधे की भुजा तक पहना जाता है| धर्म के अनुसार अविवाहित व्यक्ति को एक...

जानिए अपनी रसोईघर का वास्तु

हर घर में रसोईघर का बहुत ही प्रमुख स्थान है जहाँ सम्पूर्ण परिवार के लिए भोजन तैयार होता है| प्राचीन काल में खाना बनाना, बर्तन धोने जैसी प्रक्रिया भवन के बाहर की जाती थी परन्तु आज कल के समय में इन प्रक्रियाओं को भवन के अंदर एक स्थान पर...

जानिए कौन सा रत्न है आपके लिए फायदेमंद

प्राचीनकाल से ही रत्न मनुष्य के जीवन में प्रभावशाली भूमिका निभाते है, यह व्यक्ति को अपनी ओर आकर्षित करते है| रत्नो का प्रयोग आभूषणों और ज्योतिषी उद्देश्य के लिए किया जाता है| कुछ लोग इसे शोकियां तोर पर पहनते है और कुछ लोग ज्योतिष की सलाह के अनुसार|  प्रत्येक ग्रह एक निश्चित रत्न...

तुलसी का पौधा उगाते समय इन बात्तों का रखे ध्यान

तुलसी एक पवित्र जड़ी-बूटी है यह झाड़ी के रूप में उगता है और 2 से 3 फुट ऊँचा होता है।  इसकी पत्तियाँ बैंगनी आभा वाली हल्के रोएँ से ढकी होती हैं। तुलसी को घर में लगाने से बहरामसी ताजा खुशबू और छोटे फूलो की सुगंध आती रहती है| पौधा सामान्य रूप...

कुंडली दोष – कैसे डालता है शादी में बाधा

आज कल हिन्दू लोग कुंडली को बहुत महत्तव देते है| व्यक्ति के जन्म के समय ग्रहों की शुभ-अशुभ स्थिति होती है उसी तरह उसके जीवन में यह स्थितियाँ एक एहम रूप लेती है| मनुष्य के जन्म से लेकर मृत्यु तक उसके जीवन में प्रभाव डालती है|  शादी के बंधन में बंधने से...

D या द अक्षर से शुरू होने वाले नाम वाले कैसे होते हैं

नाम के अक्षर का आपके व्यक्तित्व पर कैसा प्रभाव पड़ता है, इस विषय में जानना बहुत दिल्चस्प हो सकता है। क्योंकि बहुत ही कम लोग इस बात से अवगत होंगे कि जिस अक्षर से आपका नाम प्रारंभ होता है, वह अक्षर आपके लिए बहुत खास होता है। तो आज...