संसद नहीं चलने पर लोकसभा अध्‍यक्ष और संसदीय कार्य मंत्री पर गुस्‍साए लालकृष्‍ण आडवाणी

भाजपा के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी ने संसद नहीं चलने पर बुधवार को लोकसभा अध्यक्ष और संसदीय कार्यमंत्री पर गुस्सा निकाला। संसद में तीसरे सप्ताह भी लगातार विरोध होने पर आडवाणी ने लोकसभा चलाने के तरीके पर चिंता जाहिर की है। उन्होंने कहा कि ना संसदीय कार्यमंत्री और और ना ही लोकसभा स्पीकर सदन चला रहे हैं। आडवाणी को संसद में लगातार हो रहे विरोध-प्रदर्शन की वजह से संसदीय मंत्री अनंत कुमार से नाराजगी जाहिर करते हुए देखा गया है। आडवाणी ने अपनी नाराजगी उस वक्त जाहिर की जब विरोधी दलों के कुछ सदस्य सत्ता पक्ष की बैंच की ओर आए और नारे लगाने लगे।

कांग्रेस और टीएमसी सांसदों द्वारा नारे लगाने के बाद लंच से पहले 15 मिनट के लिए सदन को स्थगित करने से पहले आडवाणी ने कहा, ‘ना ही स्पीकर और ना ही संसदीय कार्यमंत्री सदन चला रहे हैं। मैं स्पीकर के पास यह कहने जा रहा हूं कि वे सदन नहीं चला रही हैं। मैं इसे सार्वजनिक तौर पर कहने जा रहा हूं।’ इस दौरान कुमार चुपचाप उन्हें सुनते रहे। साथ ही अनंत ने मीडिया गैलरी की ओर इशारा करते यह भी कहा कि उनकी यह टिप्पणी मीडिया में रिपोर्ट कर दिया जाएगा।

जब सदन को स्थगित किया गया तो आडवाणी ने लोकसभा के एक अधिकारी से पूछा कि सदन कितने बजे तक के लिए स्थगित किया गया है। जब उन्हें बताया कि दो बजे तक तो उन्होंने कहा, ‘अनिश्चित काल तक क्यों नहीं कर देते?’ इससे पहले भी आडवाणी ने सदन की कार्यवाही को लेकर कुमार से अपनी नाराजगी जाहिर की थी।

बता दें, संसद के शीतकालीन सत्र का चौथा हफ्ता है। बुधवार को कार्यवाही का 16 वां दिन है। बुधवार को भी नोटबंदी को लेकर सरकार और विपक्ष के बीच तनातनी बन रही। हंगामे के बाद लोकसभा पूरे दिन के लिए स्थगित हो गई। इससे पहले राज्यसभा और लोकसभा दो बजे तक स्थगित कर दी गई थी। वहीं, कार्यवाही से पहले बीजेपी पार्लियामेंट्री बैठक और विपक्षीय दल के नेताओं की बैठक हुई थी। विपक्ष ने बैठक में नोटबंदी के कारण पेशनधारक और वेतनभोगी कर्मचारियों को हो रही दिक्कत को लेकर नियम 184 के तहत चर्चा की मांग की। वहीं बीजेपी पार्लियामेंट्री बैठक में भी कई फैसले लिए गए।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here