सिंह राशि वाले सफल भविष्य के लिए जाए इस क्षेत्र में

सिंह जंगल का राजा है वैसे ही इस राशि वालों का स्वभाव राजाओं जैसा होता है वो सदा ही वैभव पूर्ण जीवन जीना चाहते है| इस राशि के लोग हर काम बड़े ही शाही अंदाज में करते हैं, जैसे शाही सोच, शाही रहन सहन शाही खान पान इत्यादि| इस राशि के जातकों का नाम क्रमशः मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे अक्षरों से शुरू होता है| सिंह राशि पूर्व दिशा का प्रतिक है सिंह राशि का चिन्ह शेर है तथा राशि स्वामी सूर्य है और राशि स्वामी सूर्य होने की वजह से इस राशि का तत्व सूर्य के सामान अग्नि है|इस राशि में केतु और मंगल का संगम होने की वजह से सिंह राशि वालों को गुस्सा बहुत जल्दी आता है|

साथ ही केतु और शुक्र का समन्वय सिंह राशि के जातकों को सजावट और सुन्दरता के प्रति आकर्षित करता है| केतु और बुद्ध के मिलन से सिंह राशि वालों को कल्पनाशीलता मिलती है और इस राशि के जातक हवाई किले बनाने में माहिर होते हैं| शुक्र और सूर्य की वजह से जातक का झुकाव स्वभाविक प्रवृतियों की तरफ होता है| इस राशि के जातक सौंदर्य प्रेमी होते हैं और यही सौंदर्य प्रेम उन्हें कामुकता प्रदान करता है| इन्हें नयी नयी जगहों पर घूमना पसंद होता है साथ ही इनका ध्यान भोजन की और कम ही होता है| सिंह राशि के जातकों को रसीली वस्तुएं कुछ ज्यादा ही प्रिय होती हैं और इनके वायु और पित्त विकार से पीड़ित होने की संभावना ज्यादा होती है|

सिंह राशि के जातकों की छाती बड़ी होती है और इनमे हिम्मत कूट कूट कर भरी होती है इतना ही नहीं समय आने पर ये जान पर खेलने से भी नहीं चूकते| जातक के जीवन में तीन अवस्था आती है पहले में सुख दुसरे में दुःख और तीसरे यानि आखिरी अवस्था में पूर्ण सुख प्राप्त करते हैं| सिंह राशि के जातक या तो पूरी तरह निरोगी काया के मालिक होते है या फिर आजीवन बिमारी से पीड़ित रहते हैं| ये एक सुगठित शरीर के स्वामी होने के साथ ही एक कुशल नर्तक भी होते हैं अगर इनके अनुरूप वातावरण न मिले या विफल प्रेम सम्बन्ध का सामना होने पर अथवा अभिमान को ठेस पहुँचने पर ये बीमार हो जाते हैं| सिंह राशि के जातक अपने बातों के पक्के होते हैं तथा अपनी पसंद पर डटे रहने वाले होते हैं ये स्वयं आज्ञा देना पसंद करते हैं और किसी का आदेश नहीं मानते| प्यार से भले ही कोई कुछ भी करा ले परन्तु जबरदस्ती उनसे कोई भी कुछ भी नहीं करा सकता अपने व्यक्तिगत जीवन में किसी भी प्रकार का हस्तक्षेप इन्हें कतई बर्दाश्त नहीं होता| ये अपने प्रेमी या प्रेमिका के प्रति बड़े संवेदनशील होते हैं और मरते दम तक रिश्ते बखूबी निभाते हैं|

इनकी बोल चाल में बड़ी ही शालीनता होती है साथ ही सरकारी और नगर पालिका की नौकरी या फिर हीरे-जवाहरात, पीतल और स्वर्ण के व्यवसाय में इनको बहुत फायदा होता हैं। सिंह राशि वाले बड़े ही मेहनती होते हैं साथ ही धन और वैभव के मामले में बड़े भाग्यशाली होते हैं| रीढ़ की हड्डी की बीमारी या गंभीर चोटों से इनके जीवन को ख़तरा बना रहता हैं। इस राशि के लोग प्रायः हृदय रोग, धड़कन का तेज होना, लू लगने जैसी बीमारी के शिकार हो जाते है।

आपके कमैंट्स