Home कहानियाँ

कहानियाँ

साड़ी के टुकड़े – संत कबीर दास की कथा

एक समय की बात है एक नगर में अत्यंत शांत, नम्र तथा वफादार जुलाहा रहता था| उस जुलाहे ने अपने जीवन में कभी क्रोध नहीं...

समय से पहले और भाग्य से ज्यादा कभी नही मिलता

एक सेठ जी थे  - जिनके पास काफी दौलत थी। सेठ जी ने अपनी बेटी की शादी एक बड़े घर में की थी। परन्तु...

पूरी दुनिया में सबसे बड़ा बल कौनसा है?

एक दिन एक किसान का बैल कुएँ में गिर गया । वह बैल घण्टों ज़ोर-ज़ोर से रोता रहा, किसान सुनता रहा और विचार करता...

दूसरे की समस्या का मज़ाक ना उड़ाए, हो सकता है कल आप उसी समस्या...

बहुत समय पहले की बात है एक गाँव था उस गाँव में एक चूहा किसान के घर में बिल बना कर रहता था| सब...

जो होता है अच्छे के लिए होता है 

एक बार भगवान से उनका सेवक कहता है, भगवान-आप एक जगह खड़े-खड़े थक गये होंगे, एक दिन के लिए मैं आपकी जगह मूर्ति बन...

The Story of Maharishi Dadhichi

Dadhichi, also known as Dadhyancha, is an important character in Hindu mythology. He was one of the greatest devotees of Lord Shiva. It is...

आप एक अच्छे इंसान हैं, लेकिन क्या आप एक पुण्य आत्मा हैं?

एक औरत अपने बच्चे को एक संत व्यक्ति के पास लेकर गई। उसने संत से कहा, “मेरे डॉक्टर ने कहा है कि मेरे बेटे...

क्यों मृत्यु नहीं है जीवन का अंत

मृत्यु का अर्थ है भौतिक शरीर से आत्मा का जुदा होना है। मृत्यु नये और बेहतर जीवन का एक प्रारंभिक बिन्दु बन जाता है।...

बालक ध्रुव कैसे बना एक तारा – इसके पीछे की कथा क्या है?

राजा उत्तानपाद के पिता स्वयंभुव मनु और माता शतरुपा थी। उत्तानपाद की दो पत्नियां थीं सुनीति और सुरुचि। राजा उत्तानपाद को अपनी पत्नियों से दो पुत्र प्राप्त हुए। राजा...

सम्पूर्ण सच को जाने बिना किसी के भी व्यवहार के बारे में निर्णय नहीं...

एक बार एक 23 साल का लड़का अपने पिता के साथ रेलगाड़ी का सफर कर रहा था। वह खिड़की से बाहर का नजारा देख कर बहुत...

जीवन में थोडा फासला भी बहुत जरूरी है

कोई आदमी दुख में है तो तुम कहते हो कि इतने परेशान क्यों होते हो! यह सब चलता रहता है; संसार है! अपने को...

क्या होता जा रहा है हमें, पैसों के पीछे हम अपने माता पिता तक...

विश्वास साहब अपने आपको भाग्यशाली मानते थे। कारण यह था कि उनके दोनो पुत्र आई.आई.टी. करने के बाद लगभग एक करोड़ रुपये का वेतन...

ज्ञान का कोई मोल नहीं यह अनमोल है

एक युवक ने विवाह के दो साल बाद परदेस जाकर व्यापार करने की इच्छा पिता से कही पिता ने स्वीकृति दी तो वह अपनी गर्भवती पत्नी को माँ-बाप...

कुछ कड़वा बोलने से पहले ये याद रखें की….

एक गाँव में एक किसान रहता था। एक दिन उस किसान ने गुस्से में अपने पडोसी को भला बुरा कह दिया। परन्तु बाद में जब...

समझोता करें या परिस्थितियों से बाहर निकलने कि कोशिश करें? सीखें मेंढक से

अगर कोई मेंढक गर्म पानी में मर जाए तो हम में से ज्यादातर लोगों को यही लगता है कि उसकी मृत्यु गर्म पानी से...

युधिष्ठिर के यज्ञ से श्रेष्ठ था ब्राह्मण का यज्ञ

एक बार महाराज युधिष्ठिर ने एक यज्ञ करवाया। यज्ञ पूर्ण होने के बाद ऋषियों की सभा एकत्रित हुई। सभा में सभी यज्ञ की चर्चा करने लगे।...

कौन जाएगा स्वर्ग और कौन नर्क

एक समय कि बात है एक गाँव में एक ब्राह्मण और वैश्या एक दूसरे के पड़ोस में रहते थे। ब्राह्मण पूरा दिन भगवान कि पूजा...

निरंतर प्रयास ही सफलता की कुंजी है

एक गांव में एक पुजारी रहते थे। वह हमेशा धर्म कर्म के कामों में लगे रहते थे। एक दिन वह जंगल के रास्ते से साथ...