एक गौ की निस्वार्थ ममता ने दिया नया जीवन

एक दिन मंगलवार की सुबह वॉक करके रोड़ पर बैठा हुआ था,हल्की हवा और सुबह का सुहाना मौसम बहुत ही अच्छा लग रहा था,तभी...

एक दोहे ने बदल डाला कईयों का भविष्य!

एक राजा को राज भोगते हुए काफी समय हो गया था बाल भी सफ़ेद होने लगे थे। एक दिन उसने अपने दरबार में एक...

चित्तौड़गढ़ की रानी पद्मावती का इतिहास

हर जगह रानी पद्मावती की चर्चा है जिसका कारण संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती है अब उन्होंने इस फिल्म में क्या दिखाया है...

सरस्वती, लक्ष्मी, पारवती – त्रिदेवी की गाथा

त्रिदेवी यानि माँ सरस्वती, माँ पार्वती और माँ लक्ष्मी जो त्रिदेव की पत्नियां हैं| आज हम इन्हीं के बारे में जानेंगे:- माँ सरस्वती  ब्रह्मा जी की पत्नी माँ...

गर्दभ पर विराजमान, हाथ में कलश तथा झाड़ू पकड़े हुई शीतला माता की कथा

हिन्दू लेखों के अनुसार, धर्म में 33 करोड़ देवी देवताओं के बारे में बताया गया है| भारत देश में हिन्दू धर्म के लोग देवी-देवताओं में बहुत...

गुरुभक्त एवं सर्वश्रेष्ठ धनुर्धर : एकलव्य

महाभारत काल से आज तक सबसे अच्छा और सफल धनुर्धारी अर्जुन को माना जाता है परन्तु जहाँ बात गुरु-भक्ति की आती है तो एकलव्य...

वसंत पंचमी के पीछे की कथा

सभी ऋतुओं को देखा जाए तो वसंत को ऋतुओं का राजा कहा जाता है| यह साल का वह वक़्त है जब प्रकृति की सुंदरता का कोई जवाब...

प्रभु के घर में देर है अंधेर नहीं

एक अमीर ईन्सान था उसने समुद्र मे अकेले घूमने के लिए एक नाव बनवाई। छुट्टी के दिन वह नाव लेकर समुद्र की सैर करने...

क्यों किया बर्बरीक ने अपने बाणों से पीपल के पत्तों में छेद

क्या आपको कभी सुनने को मिला है बर्बरीक के बारे में कि वह कौन था और उसकी   प्रचलित कथा क्या है? तो आइए जानते है इस प्रश्न का...

ऐसा क्या हुआ कि इस मंदिर में पति पत्नी का एक साथ पूजा करना...

हिन्दू धर्म के लोग भगवान और मंदिरों में बहुत आस्था रखते है, हमेशा अपने बच्चों को भी अपने साथ लेकर मंदिर या देवालय जाते है...

हर संकट से मुक्ति दिलाएं ये 10 महाविद्याएं

हर एक को अपने-अपने जीवन में कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है| इन समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए व्यक्ति क्या-क्या नहीं करता|...

आज हम आपको बताने जा रहे है माता वैष्णों देवी की प्रचलित कथा

वैष्णों देवी भव्य और पूजनीय स्थलों में से एक है जहाँ लाखों की संख्या में श्रद्धालु माता के दर्शन करने के लिए आते है| पौराणिक कथाओं...

आइए जानते है ऋष्यमूक पर्वत के बारे में और बाली तथा सुग्रीव के जन्म...

हिन्दू पुराणों के अनुसार ऋष्यमूक नाम का एक पर्वत हुआ करता था| इस पर्वत पर एक विशाल वानर रहता था जिसका नाम था ऋक्षराज| माना जाता है...

क्या आप जानते है एक ऐसे मंदिर का रहस्य जहां भगवान शिव से पहले...

भगवान शिव को देवों के देव महादेव कहा जाता है| इनकी पूजा पुरे विश्व में अनेक तरीकों से और बहुत उत्साह के साथ की जाती है| माना...

आखिर ऐसा क्या हुआ की बालब्रह्मचारी होते हुए भी हनुमान जी ने किया विवाह

हिन्दू धर्म के अनुसार, अंजनी पुत्र हनुमान जी वानर के मुख वाले अत्यंत बलशाली पुरुष थे| कंधे पर जनेऊ लटकाए और मात्र एक लंगोट पहने और एक स्वर्ण...

आखिर क्यों नर्मदा माँ ने हमेशा अविवाहित रहने का प्रण लिया

भारत में बहने वाली गोदावरी तथा कृष्णा नदी के बाद तीसरे स्थान पर सबसे लम्बी नदी आती है नर्मदा नदी| इस नदी को मध्य प्रदेश का विशेष...

यहां हैं महादेव के त्रिशूल के अंश

पिछले युगों से जुडी कई घटनाओं, युद्ध एवं कथाएं हमने सुनी व पढ़ी हैं| मगर उन घटनाओं के तथ्य हमें बहुत कम ही मिल...

गणेश जी का विवाह किस से और कैसे हुआ और उनके विवाह में क्या...

भगवान शिव और देवी पार्वती के पुत्र गणेश जी की पूजा सभी भगवानों से पहले की जाती है| प्रत्येक शुभ कार्य करने से पहले इन्हे...

प्रकृति का अदभुत करिश्मा: एक ऐसा शिवलिंग जो बढ़ता है दिन पर दिन

शिव जी को देवों के देव अर्थात् महादेव भी कहते हैं| इन्हें महादेव, भोलेनाथ, शंकर, महेश, रुद्र, नीलकंठ के नाम से भी जाना जाता है| शिवलिंग,...

आखिर क्यों भगवान शिव के इस एक हाथ से बने मंदिर में नहीं की...

हमेशा सुनने को मिलता है कि अगर भगवान शिव की पूजा अर्चना सच्चे मन से की जाए तो वे हमारे कष्टों का निवारण करते...

कुल्लू घाटी से कैसे जुड़ें हैं महादेव

कुल्लू भारत के हिमाचल प्रदेश में स्थित एक शहर है। कुल्‍लू का नाम पहले कुलंथपीठ था, इसका अर्थ है रहने योग्‍य दुनिया का अंत। कुल्‍लू घाटी भारत में देवताओं...

स्वाहा- जिसके बिना कोई भी हवन सफल नहीं

हमने अक्सर देखा है की किसी भी शुभ कार्य पर हवन या यज्ञ किया जाता है| हवन के दौरान जितनी बार आहुति डलती है...

किस प्रकार तोड़ा ज्वालामुखी देवी ने अकबर का अभिमान

हिन्दू धर्म की प्रचलित कथा के अनुसार भगवान शिव के तांडव से हो ब्रह्माण्ड में हो रहे हाहाकार से देवलोक को बचाने के लिए विष्णु जी ने...

क्या है कुम्भ मेले का इतिहास? क्यों आता है ये 12 वर्षों के बाद?

कुम्भ मेले के बारे में अक्सर लोग यह जानते हैं कि यह मेला हर 12 वर्षों में एक बार लगता है परन्तु ऐसा क्यों होता...